अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

मुट्ठी मे साँसे

देखा मालिक को किये मुट्ठी बंद मुट्ठी मे  थी उनके मेरी साँसे । उनके पास था एक चाबुक चाबुक जो खींचता था पसीने से  सांसे अगर आज मजदूरी मे मुट्ठी भर साँसे मिली तो देखेंगे रोटी कितनी हवादार बनती ...  और पढ़ें
21 मिनट पूर्व
yogesh dixit
हम सब उम्मीद से हैं
0

क्या नरेंद्र मोदी की सरकार दीनदयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मौत की जांच कराएगी!

हरेश कुमारक्या Narendra Modiसरकार जनसंघ नेता दीनदयाल उपाध्याय और डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की भी जांच कराएगी? मोदी सरकार के पास पर्याप्त मौका है। पार्टी के संस्थ...  और पढ़ें
9 घंटे पूर्व
Haresh
Information2media
2

परमाणु शस्त्र संपन्नता का अर्थ बेलगाम आतंकवाद का प्रसार नहीं?

-तनवीर जाफरी/ भारत व पाकिस्तान के रिश्तों में एक बार फिर भारी तनाव नज़र आ रहा है। सीमा पर बढ़ते जा रहे इस ताज़ातरीन तनाव का मुख्य कारण जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती क्षेत्र पर स्थित नियंत्रण रेखा ...  और पढ़ें
9 घंटे पूर्व
Reeta Rainbow News
रेनबो न्यूज Junction
3
डायनामिक
3

ऑनलाइन न्यूज और समाचारपत्र में वही अंतर है, जो राजदूत और बुलेट मोटरसाइकिल में है

हरेश कुमारआज के समय में लोगों की जिंदगी में भागदौड़ को देखते हुए जिस तरह से ऑनलाइन न्यूज और फास्टफूड की डिमांड बढ़ती जा रही है उसे आप किसी भी सूरत में नजरअंदाज नहीं कर सकते। हालांकि, फास्टफूड ...  और पढ़ें
11 घंटे पूर्व
Haresh
Information2media
2

Arab Spring - अरब स्प्रिंग, ये कैसा 'स्प्रिंग'

मौत का सन्नाटा  अगर हमारे गली मोहल्ले, अड़ोस-पड़ोस में किसी घर में किसी की मौत हो जाती है तो कई दिन तक पूरे मोहल्ले में सन्नाटा छाया रहता है। अब इसी तरह सीरिया, इराक तथा मध्य पूर्व के अन्य देशों...  और पढ़ें
13 घंटे पूर्व
Ramendra Mishra
मेरी डायरी
2

Effective ways to deal with Criticism

15 घंटे पूर्व
Babita Singh
ख्याल रखे
0

काला धन और नकद रकम पर हमारे अनुभव

काला धन  आय घोषणा योजना 2016 और नकद रकम  की समस्याभारत सरकान ने देश में काला धन समाप्त करने के अपने प्रयासों के तहत आय घोषणा योजना 2016  आरम्भ की है जिसकी आखिरी तारीख 30 सितम्बर 2016 है।  इस घोषणा म...  और पढ़ें
15 घंटे पूर्व
Manisha
www.HindiDiary.com
0

ग़ज़ल "हिदायत हमारी है सीमा न लाँघो, मिटा देंगे पल भर में भूगोल सारा" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 अमन का चमन ये वतन है हमारा।नही दानवों का यहाँ है गुजारा।।खदेड़ा हैं गोरों को हमने यहाँ से,लहू दान करके बगीचा सँवारा।बजें चैन की वंशियाँ मन-सुमन में,नही हमको हिंसा का आलम गवारा।दिया पाक ...  और पढ़ें
16 घंटे पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
1
2

वक्त का मौसम

होठों की हंसी देखे अंदर नहीं देखा करते किसी के गम का समंदर नहीं देखा करते कितनी हसीन है दुनियां लोग कहा करते हैं मर-मरके जीने वालों का मंजर नहीं देखा करते पास होकर भी दूर हैं उन्हें छू नहीं सकते...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
राजीव कुमार झा
यूं ही कभी
1

एचआरडी एवं व्यावसायिक अर्थशास्त्र विभाग द्वारा पुरातन छात्र सम्मेलन 2016 का आयोजन

विश्वविद्यालय के एचआरडी एवं व्यावसायिक अर्थशास्त्र विभाग द्वारा फार्मेसी संकाय स्थित कांफ्रेन्स हाल में शनिवार को पुरातन छात्र सम्मेलन 2016 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
VBSPURVANCHAL
पूरब बानी....
1

विश्वविद्यालय के वित्तीय अध्ययन विभाग में पुरातन छात्र सम्मेलन

 विश्वविद्यालय के वित्तीय अध्ययन विभाग में शनिवार को पुरातन छात्र सम्मेलन आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में देश के बाहर के भी पूर्व विद्यार्थियों ने भी शिरकत किया। इस अवसर पर जेद्दा सऊदी अर...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
VBSPURVANCHAL
पूरब बानी....
1

समाजवाद का प्रहसन

                                              दृश्य-एक   ( स्थान- दरबार-ए-खास । महाराज सियार सिंहासन पर चिपके हुए हैं । मुट्ठियां हत्थों पर कसी हु...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
Janmejay Tiwari
तीर-ए-नजर
2

पाती

प्रिय कुमुदनी,आशा करता हूँ कि ये पत्र तुम तक जरुर पहुँचेगा , तुम इसे मेरी ओर से क्षमा याचना मान लेना | बचपन से लेकर आज तक गलतियों से सीखता आया हूँ , आज भी सीख रहा हूँ , कल भी सीखूंगा | कैसे भूल सकता हू...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
VIVEK SACHAN
khuch bhikhri yaden --कुछ बिखरी यादें
4

जियो जी भर...

अमरीका के एक प्रसिद्ध लेखक रे ब्रैडबेरि का कहना है कि अपनी आँखों को अचंभों से भर लो, जियो ऐसे कि जैसे अभी दस सेकेण्ड में गिर कर मरने वाले हो, दुनिया देखो, यह कारखानों में बनाए गए या खरीदे ...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
Shikha varshney
स्पंदन SPANDAN
2

श्री खुशवंत राजपुरोहितका चयन राजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर में जुडिशल असिस्टेंट पद हुआ

श्री खुशवंत सिंह राजुरोहित(राजगुरु) ठिकाना चण्डावल नगर तहसिल सोजत सिटी जिला पाली का &#...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
RAJPUROHIT SAMAJ
0

ॐ बन्ना की माताश्री स्वरूप कँवर सा का देवलोक हुई

"शोक सन्देश"बावजी हुक्म श्री ॐ बन्ना सा को इस धरती पर अवतार के रूप में जन्म देने वाले मा...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
RAJPUROHIT SAMAJ
1

शिकस्त ।

शिकस्त मिलने की वजह तो, कई  होंगी  मगर,सब से बड़ी वजह, पहचान सका ना मैं, खुद को...!मार्कण्ड दवे । दिनांकः १८ सप्टेम्बर २०१६....  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
Markand Dave
M.K.TVFilms - HINDI ARTICLES
3

ग़ज़ल "लोग जब जुट जायेंगे तो काफिला हो जायेगा" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

लोग जब जुट जायेंगे, तो काफिला हो जायेगाआम देगा तब मज़ा, जब पिलपिला हो जायेगापास में आकर कभी, कुछ वार्ता तो कीजिएबात करने से रफू शिकवा-गिला हो जायेगाआपसी पहचान से, रिश्ते नये बन जायेंगेरोज़ मिल...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
5
2

कैराना : राजनीति पलायन की

कैराना उत्तर प्रदेश की यूं तो मात्र एक तहसील है किन्तु वर्तमान विधान सभा चुनाव के मद्देनजर वोटों की राजधानी बना हुआ है. इसमे पलायन का मुद्दा उठाया गया है और निरन्तर उछाल दे देकर इस मुद्दे को स...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
SHALINI KAUSHIK
! कौशल !
2

‘ रावण-कुल के लोग ‘ (लम्बी तेवरी-तेवर-शतक) +रमेशराज

‘ रावण-कुल के लोग‘(लम्बी तेवरी-तेवर-शतक)+रमेशराज.............................................................बिना पूँछ बिन सींग के पशु का अब सम्मान मंच-मंच पर ब्रह्मराक्षस चहुँदिश छायें भइया रे! 1तुलसिदास ऐसे प्रभुहिं कहा भजें भ्र...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
kuldeep thakur
कविता मंच।
1

ग़ज़ल ( मुहब्बत है इश्क़ है प्यार है या फिर कुछ और )

लोग कत्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती हैहम नजरें भी मिलाते हैं तो चर्चा हो जाती है.दिल पर क्या गुज़रती है जब  वह  दूर होते हैं पाते पास उनको हैं  तो रौनक आ जाती  है .आकर के ख्यालों में क्यो...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Madan mohan saxena
ग़ज़ल गंगा
5

भगवान से मदद के ख़्वाहिशमंद

अभी एफ़ एम सुन रहा था, एक बात सुनकर कान खड़े हो गए-‘कई ‘बुद्धिमान’ लोग समझते हैं कि दुनिया में जो भी होता है भगवान करता है.....‘.....मुझे लगा बात सुननी चाहिए, थोड़ी उम्मीद बंध गई जैसी भारत में नास्तिकता प...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Sanjay Grover संजय ग्रोवर
नास्तिक The Atheist
0

"डोर"

तेरे से बंधी मन की डोरकई बार मुझेतेरी ओर खींचती हैजी चाहता हैतेरी गलियों के फेरे लगाऊँजाने-पहचाने चेहरे देख मुस्कराऊँजो अपने थे रणछोड़ हो गएतेरे गली-कूंचे कुछ और थेअब कुछ और हो गएहवाएँ बदली , र...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Meena Bhardwaj
मंथन
9

दोहे

बुरा-भला खोटी खरी, क्षमा करूँ अज्ञान।अगर जान लेते मुझे, मियाँ छिड़कते जान।।उड़ो नहीं ज्यादा मियां, धरो धरा पर पैर।गुरु-गुरूर देगा गिरा, उड़ो मनाते खैर ।।कच्चे घर सच्चे मनुज, गये समय की बात।रहे घर...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
रविकर
"कुछ कहना है"
2
पिछला123456789...16161617अगला
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन