अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

''विजय पताका''

वे शहद चटातें हैं !तुमको मैं नमक लगाता हूँ !तुमको वे स्वप्न दिखाते हैं !तुमको मैं झलक दिखाता हूँ !तुमको वे रंग लगातें हैं !तुमको मैं रक्त दिखाता हूँ !तुमको गर्दन पर चाकू मल...  और पढ़ें
17 मिनट पूर्व
DHRUV SINGH
"एकलव्य"
0

बगुलामुखी पीताम्बरा पीठ दतिया का एक परिचय

दतिया नगर के दक्षिण में स्थित श्री वनखण्डेश्वर प्राचीन सिद्ध स्थान में ब्रम्हनील पूज्यपाद राष्ट्रगुरू अनन्त श्री विभूषित स्वामी जी महाराज का पदार्पण लगभग 78 वर्ष पूर्व 6 जुलाई 1929 को हुआ था पू...  और पढ़ें
2 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
0

संकट के लिए बगुलामुखी यंत्र स्थापना करें

मनुष्य जीवन में अनेक प्रकार के संकट आते ही रहते है और परेशान व्यक्ति उनसे मुक्त होने का उपाय खोजता रहता है जब आप चारों तरफ से निराश और असहाय हो चुकें हो और आपको कोई मार्ग नहीं सूझ पड़े तो बस आप एक ...  और पढ़ें
3 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
0

यदि आप जीवन में तकलीफों से घिर चुके हैं

मनुष्य जन्म में अनेकानेक प्रकार की समस्याएं और कष्ट आते-जाते रहते है लेकिन आपको जब ये महसूस होने लगे कि अब आपके पास कोई भी उपाय शेष नहीं रह गया है और चारो तरफ अन्धकार है आपकी कोई भी सहायता नहीं ...  और पढ़ें
3 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
0

biodiversity - सामयिक दोहे

विविधता प्रकृति का स्वभाव है। न जाने कितने प्रकार के पेड़पौधे, पशुुपक्षी, जीवजन्तु इस धरताी पर पाए जाते हैं। मनुष्य भी उन्हीं में से एक है। किन्तु जब से मनुष्य ने प्रकृति पर विजय पाने की हठ ठा...  और पढ़ें
4 घंटे पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
0

माता बगुलामुखी देवी का ऐतिहासिक सत्य जाने

माँ पीताम्बरा बगलामुखी(Bagalamukhi)देवी का स्वरूप रक्षात्मक है पीताम्बरा पीठ मन्दिर के साथ एक ऐतिहासिक सत्य भी जुड़ा हुआ है जब सन् 1962 में चीन ने भारत पर हमला कर दिया था उस समय देश के प्रधानमंत्री पंडि...  और पढ़ें
8 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
1

रमेशराज की चतुष्पदियाँ ------------------------------- नेता बाँट रहे हैं नोटसोच-समझ कर देना वोटकल मारेंगे तुझको लातआज रहे जो पांवों लोट |+रमेशराज-------------------------------------- पी पऊआ, नाली में लोटदे बेटा गुंडों को वोट,यह...  और पढ़ें
10 घंटे पूर्व
Rameshraj
रमेशराज के मुक्तक
1

रमेशराज की चतुष्पदियाँ

रमेशराज की चतुष्पदियाँ-------------------------------गुलशन पै बहस नहीं करता मधुवन पै बहस नहीं करता वो लिए सियासी दुर्गंधें चन्दन पै बहस नहीं करता |+रमेशराज  -------------------------------------- “असुर ” कहो या बोलो-“ खल हैं “हम मल ह...  और पढ़ें
10 घंटे पूर्व
Rameshraj
रमेशराज के मुक्तक
1

ओ मेरे  पूज्य    पिता जी,

[दिनांक 30 अप्रैल 2017 को मेरे पूजनीय पिता जी श्री ठाकुर  ईश्वर सिंह इस भू लोक को त्याग कर चले गये...जीवन में उनकी कठिन तपस्या से ही आज हम   सुखद जीवन जी पा रहे हैं....]"हे ईश्वर मेरे पूजनीय पिता जी को...  और पढ़ें
11 घंटे पूर्व
kuldeep thakur
man ka manthan. मन का मंथन।
0

दोहा-दोहा प्रेम +रमेशराज

रमेशराज के प्रेम-पगे दोहे ----------------------------------------तुमसे अभिधा व्यंजना तुम रति-लक्षण-सार हर उपमान प्रतीक में प्रिये तुम्हारा प्यार |+रमेशराज +मंद-मंद मुसकान में सहमति का अनुप्रास जीवन-भर यूं ही मिले य...  और पढ़ें
11 घंटे पूर्व
Rameshraj
रमेशराज के चर्चित दोहा-शतक
0

रमेशराज 6 चतुष्पदियाँ

रमेशराज 6 चतुष्पदियाँ ---------------------------------- 1. नेता बाँट रहे हैं नोटसोच-समझ कर देना वोटकल मारेंगे तुझको लातआज रहे जो पांवों लोट |+रमेशराज------------------------------------- 2.  पी पऊआ, नाली में लोटदे बेटा गुंडों को ...  और पढ़ें
11 घंटे पूर्व
kuldeep thakur
कविता मंच।
0

हल्दी मिले जल का सेवन सुबह करने के फायदे

आमतौर पर देखा गया है कि लोग उठते ही गर्म पानी या फिर निम्बू पानी का सेवन करते है जिससे कि उनका पेट साफ़ हो और खुल कर शरीर की गंदगी बाहर निकल जाए वैसे तो ये है ही फायदेमंद  लेकिन यदि इसमें थोड़ी सी ...  और पढ़ें
12 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
1

मनुष्य जीवन के होने वाले संस्कार क्या हैं

संस्कार(Sanskar)का वास्तविक अर्थ होता है शुद्धिकरण और हिन्दूओं संस्कारों का विशेष महत्व है ये संस्कार आदि काल से चला आ रहा है सभी संस्कार हमारे मन-कर्म-वाणी-और शरीर के उत्थान के लिए हमारे ऋषियों न...  और पढ़ें
13 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
0

नवजात शिशु के होने वाले संस्कार क्या हैं

आज आधुनिकता में लोग पुरानी परम्पराओं को विस्मृत करते जा रहे है हमारा प्रयास आपको सिर्फ सनातन परम्परा से अवगत कराना है कुछ जगह आज भी बालक के गर्भ में आने से लेकर अन्त तक के सभी संस्कार(Sanskar)परम्प...  और पढ़ें
14 घंटे पूर्व
Satyan Srivastava
उपचार और प्रयोग
0

पुस्तक प्रकाशन

पुस्तक प्रकाशनहर रचनाकार, चाहे वह कहानीकार हो, नाटककार हो या समसामयिक विषयों पर लेख लिखने वाला हो, कवि हो याकुछ और,चाहेगा कि मेरी लिखी रचनाएं पुस्तक का रूप धारण करें. हाँ शुरुआती दौर में लगता ह...  और पढ़ें
18 घंटे पूर्व
रंगराज अयंगर
0

व्यंग्य पर दंगल

आभासी दुनियामें व्यंग्य पर ‘दंगल’ जारी है। फेसबुक अखाड़ा है। व्यंग्य का हर तगड़ा और दियासलाई पहलवान अखाड़े में उतर आया है एक-दूसरे से ‘मुचैटा’ लेने को। दोनों तरफ के पहलवान अपने-अपने दांव चलत...  और पढ़ें
19 घंटे पूर्व
Anshu Mali Rastogi
हथौड़ा
1

गीत "घुटता गला सुवास का" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

आम नहीं अब रहा आम, वो तो है केवल खास का।नजर नहीं आता बैंगन भी, यहाँ कोई विश्वास का।।अब तो भिण्डी, लौकी-तोरी संकर नस्लों वाली हैं,कद्दू के पिछलग्गू भी अब खाने लगे दलाली हैं,टिण्डा और करेला भ...  और पढ़ें
19 घंटे पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
2

कांदा व्यापाऱ्याच्या घरात एक कोटींच्या जुन्या नोटा

अहमदनगर । DNA Live24 - शहरातील एका कांदा व्यापाऱ्याकडून पोलिसांनी सुमारे १ कोटी रुपयांच्या जुन्या नोटा जप्त केल्या. नोटाबंदीनंतर एवढ्या मोठ्या प्रमाणात जुन्या नोटा जप्त करण्याची ही पहिलीच मोठी ...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
3

मुझे मेरा बचपन पुनः चाहिए!

मुझे मेरा बचपन पुनः चाहिए,पाने फिर इनको कहाँ जाइये?वो पेड़ो पर चढ़ना, गिलहरी पकड़ना,अमिया की डाली पर झूले लगाना,वो पेंगें मारके  बेफिकरी से झूलना,वो मामा और मासी का मनुहार करना,मेरे रूठ जाने ...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
Sudha
Meri Jubani
3

चन्द माहिया :; क़िस्त 40

चन्द माहिया : क़िस्त 40:1:जीवन की निशानी हैरमता जोगी हैऔर बहता पानी है;2:मथुरा या काशी क्यामन ही नहीं चमकाघट क्या ,घटवासी क्या:3:ख़ुद को देखा होतामन के दरपन मेंक्या सच है ,पता होता:4:बेताब न हो , ऎ दिल !सोज़...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
0

पुस्तक----ईशोपनिषद का काव्यभावानुवाद ------डा श्याम गुप्त-----

पुस्तक----ईशोपनिषद का काव्यभावानुवाद ------डा श्याम गुप्त----- \\प्रथम मन्त्र ..”ईशावास्यम इदं सर्वं यद्किंचित जगत्याम जगत |”                   ”तेन त्यक्तेन भुंजीथा म...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
1

दोहे "सबकी अपनी टेक" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 रौशन रजनी को करे, वो चन्दा है एक।धवल चाँदनी पर टिकी, नवयुगलों की टेक।।--फैले हैं संसार में, यूँ तो पन्थ अनेक।सबके दिल में जो बसे, वो नारायण एक।।--रूप-रंग सबका अलग, होता भिन्न विवेक।उर मन्दिर को ...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
2

झाबुआ क्राइम रिपोर्ट 21-05-2017

लुट का 01 अपराध पंजीबद्धः-फरि. राजेश पिता बदिया मेड़ा उम्र 19 साल निवासी बिसलपुर ने बताया कि मो.सा. से मेघनगर आ रहा था की गा्रम खच्चारटोडी में एक अज्ञात व्यक्ति ने हाथ में लौहे की लम्बी पत्ती लेकर ख...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
Asha News
Jhabua News, Latest News, Hindi News, Online Newspaper
0

IPL 2017 का महामुकाबला Mumbai Indians vs Rising Pune

royalty free stock images अपने ब्लॉग के लिए डाउनलोड करें(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); Mumbai Indians vs Rising Pune Supergiantआज आईपीएल का आखरी मुकाबला Mumbai Indians vs Rising Pune Supergiant के बिच होने वाला है ! पुरे महीने भर चले IPL(Indian Premier League) के महाकुम्भा में बहुत ...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
Computer Tips & Tricks
computer tips & tricks
0

IPL 2017 का महामुकाबला Mumbai Indians vs Rising Pune

royalty free stock images अपने ब्लॉग के लिए डाउनलोड करें(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); Mumbai Indians vs Rising Pune Supergiantआज आईपीएल का आखरी मुकाबला Mumbai Indians vs Rising Pune Supergiant के बिच होने वाला है ! पुरे महीने भर चले IPL(Indian Premier League) के महाकुम्भा में बहुत ...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
Computer Tips & Tricks
0

साथी हाथ बढाना......प्रार्थना से पहले प्रकृति के लिए बढे हाथ...

झाबुआ : साथी हाथ बढ़ाना एक अकेला थक जायेगा मिल कर बोझ उठाना..... जी हां पुलिस अधीक्षक महेशचंद जैन की अनुठी पहल... रंग लाने लगी है। पर्यावरण प्रेमी पुलिस अधीक्षक ने हाथीपावा की पहाडियों को हराभरा कर...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
Asha News
Jhabua News, Latest News, Hindi News, Online Newspaper
2

पर्यावरण ले जुरे हमर संस्कृति

प्राकृतिकरूप ले हमर चारों मुड़ा जोन वातावरण हवय इही तो हमर पर्यावरण आए। चराचर जगत के जीव-जनावर के जिनगी के आधार आए पर्यावरण। उत्पत्ति ले विनाश के ओखी, पालनहारी, जीवनदाई हमर पर्यावरण के सरेखा क...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
जयंत साहू
चारीचुगली
1

साइबर क्राइम बन चुका... ( सामयिक दोहे )

ज्यादा दिन नहीं हुए जब अमेरिका ब्रिटेन सहित सैकड़ों देशों के दो लाख से अधिक कम्प्यूटर अब तक के सबसे बड़े साइबर अटैक से प्रभावित हुए थे। कहा गया यह रेम्समवेयर मलवेयर की करामात थी। अब तरह तरह की...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
1
पिछला123456789...20162017अगला


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन