पाँच लिंकों का आनन्द की पोस्ट्स

1059.......दशरथ मांझी की राह चला एक और मांझी

सादर अभिवादनआज 10 जून को मनाया जाता है विश्व भूगर्भ जल दिवस, साथ ही साथ जानिए आज के इतिहास की कुछ ऐसी बातें जो हमें पता ही नहीं की आज के दिन क्या हुआ,बहुत सी ऐसी घटित-घटनाएं,जन्म लिए व्यक्ति, ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1058... शादी की सालगिरह

सभी को यथायोग्यप्रणामाशीषआज हमारी शादी की सालगिरह हैउपहार चयन मुश्किल नहींशादी की सालगिरहशादी की सालगिरहशादी की सालगिरहफिर  मिलेंगे .....तब तक चलेंहम-क़दमके बाईसवें विषय की ओर..इस सप्ताह...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1057....कब्ज पेट का जैसा, दिमाग में हो जाता है, बात समझ से बाहर हो जाती है

धरती पर भगवान का दूसरा रुप कहलाते हैंं डॉक्टर।सदैव ही उन्हें समाज में विशेष स्थान प्राप्त रहा है। अमीर हो या गरीब बीमारी में अपने इस भगवान को याद करते हैं।बदलते परिदृश्य में डॉक्टरों और हॉ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1056....सबने दूध चढ़ाया होगा तो मेरा एक लोटा जल ही सही.....

सादर अभिवादन।    कल विश्व पर्यावरण दिवस था। औपचारिक चर्चाओं के साथ ऐसे ही दिन गुज़र जाते हैं। लेकिन समाज में इस बिषय पर क्या मंथन हो रहा है इसकी झलक कुछ रचनाओं में अभिव्यक्त हुई है। ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
1

1055..अखबार होने का कर्तव्य निभा रहा है..

।।प्रात:वंदन।।एक तरफ किसान दूध सब्जियाँफेंक रहे हैंदूसरी ओर भूख से परेशान लोग..सवाल तो ये भी है क्या गरीब किसान टैंकर से दूध बेचते है या ट्रक ,गाड़ी से सब्जी लाते हैं?दोनों खबरे छप रही है..शायद व...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1054....कारण स्पष्ट है....... प्रकृति के साथ छेड़छाड़.....

जय मां हाटेशवरी....स्वागत है आप सभी का......सुन कर कुछ अजीब सा लगता है...... हिमालय की गोद में बसे.....शिमला में भी पानी के लिये मारामारी हो रही है.....आंदोलन हो रहे हैं......जाने जा रही है......कारण स्पष्ट है.......प...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1053...हम-क़दम का इक्कीसवाँ अंक....

अँधा बेचे आईना, विधवा करे श्रृंगारकथा कहे बहुरूपिया, ढोंगी पढ़े लिलार.उपरोक्त दोहा था विषय आज का, हमने लिखा था...रेखांकित शब्द ही मुख्य विषय है...हमने कोशिश की पर...नहीं लिख पाए..चलिए चलें आज के शब्...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1052.....अच्छी भली आँखों के अंधों का कोई करे तो क्या करे

सादर अभिवादनपूरे इतिहास में वर्ष केहर दिन हर घण्टे मेंकुछ न कुछ घटित होता हैऔर होते रहेगा...पर गूगल जी महाराज के पासआज का कोई रिकॉर्ड नहीं है...यानि ..आज का दिन पाक साफ हैआज यदि आप कोई हंगामा करते ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1051... हाय रे गर्मी

सभी को यथायोग्यप्रणामाशीषदो जून की मगजमारीउपजा मगरूर तामस बंजर भावों पर मलनेबंजारा नमक लायाखेतों में मजूरी से भरे पूरे परिवार कापूरा नहीं पड़े है ज़माना महँगी मार काइसलिए छोड़ के बसेरा ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1050..मन में लिए, कुछ अनकही सी बात

प्रत्येक  माता-पिता अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य को लेकर सदैव चिंतित रहते हैं। सीबीएसई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं का परीक्षा का परिणाम घोषित हो चुका है। कुछ बच्चों ने रिकॉर्ड बनाते हुये ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1049...आज विश्व तम्बाकू निषेध दिवस है....

सादर अभिवादन। बदलते मौसम में आस्थाओं को बदलने का दौर भी आता है रुख़ करता है उस ओर अवसरवादी जिस पाले में अधिक पाता है। आज विश्व तम्बाकू निषेध दिवस है। सरकारें तम्बाकू उत्पादों से ट...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
8

1048..चलों इसी बहाने अब दोपहर भी शाम होगी..

।।मांगल्यम् सुप्रभात।।पारंपरिक खेलों की जिक्र हुई हैचलों इसी बहाने अब दोपहर भी शाम होगीकईयों की बचपन की गर्मी की छुट्टियाँ  इन खेलों के बिना अधूरी   लगती होगी ।गिल्ली-डंडा, कंचे ,खो -ख...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
2

1047.....कथा कहे बहुरूपिया, ढोंगी पढ़े लिलार.

कोमा चला गया हैहिमाचल का नेटप्रयास जारी हैकतिपय दवाएँ चाहिए सो हम लोगइकट्ठा कर रहे हैं....कुछ इन्जेक्शन सखी श्वेताला रही हैकुछ कोशिश हम भी कर रहे हैं...देखिए पहली खेप आ गई है.....मोर अँगनैया...विश्व...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1046...."ज्येष्ठ मास की तपिश"हम-क़दम का बीसवां क़दम ...

                                     सादर अभिवादन        ग्रीष्म ऋतु की तपिश अपने चरम पर होती है ज्येष्ठ मास में। मौसम की तपन सहता आया इंसान अब उन्मादी,कलुषित,आपराधिक, स...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1045.....नोच ले जितना भी है जो कुछ भी है तुझे नोचना तुझे पता है

सादर अभिवादन..आज सत्ताईस मई...भारत के प्रथम प्रधान मंत्रीमाननीय जवाहरलाल नेहरू का निधनशत-शत नमनअलग-अलग कहानियाँभिन्न-भिन्न दन्त कथाएँकिसे मानें और किसे न मानें...बीति ताहि बिसार दे की तर्ज पर ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1044... शोर

श्रेष्ठता की इच्छा कई बार कला को युद्ध में बदल देती है @अजंता देवरौशनी का वादा करते रहोतारीफों के कसीदे पढ़े जाते रहेंगे,लोग भूल जायेंगे अपनी तकलीफतब कोई नहीं देखेगा तुम्हारी तरफजब सचमुच चिरा...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1043..तप्त शिलाओं को सिक्त बूंदों से सहला

रचनाकारों की लेखनी समय -समय पर समसामयिक गतिविधियों पर,सामाजिक मूल्यों पर ताथ अन्य मुद्दों पर सक्रिय रही है।किसी भी विषय के संदर्भ में एक लेखक के विचार पक्ष या विपक्ष में हो सकते है पर ले...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1042....थम जाती रह-रहकर हवा खरके न पात-पाती ...

सादर अभिवादन। अति कटु है  तपिश  मास ज्येष्ठ की  बरबस याद आती रस भरे फल श्रेष्ठ की थम जाती रह-रहकर  हवा खरके न पात-पाती आमों के बाग़ में कोयल मोहक मधुर गीत गाती।   आइये अब चल...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1041..कलमकारों को मुक्त चिंतन के परिवेश के लिए...

।।शुभ भोर वंदन।।ये करें और वो करेंऐसा करें वैसा करेंज़िंदगी दो दिन की हैदो दिन में हम क्या क्या करें                      -नज़ीर बनारसीहैं न इसी तरह का जद्दोजहद..ज्यादा तो नहीं ..बस..कलमक...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1040....संस्कार, परंपरा और राष्ट्र गौरव उनके दिल के करीब थे।

जय माँ हाटेशवरी...राजा राममोहन राय एक प्रखर-प्रगतिशील व्यक्तित्व का नाम है। वे भारतीय भाषायी प्रेस के सही अर्थों में संस्थापक थे। जनजागरण और सामाजिक सुधार आंदोलन के प्रणेता राजा राममोहन राय ...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
0

1039 ....हम-क़दम का उन्नीसवाँ अंक

सादर नमस्कार आज के विशेषांक के मूल विषय पर बातें करना अति आवश्यक है।मानव प्रकृति पुत्र कहलाता है। जीवन-यापन के लिए मनुष्य प्रकृति पर निर्भर है। सभ्यता के विकास की अंधी दौड़ में शहरीकरण क...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
4

1038...कम्प्यूटर में वायरस

सादर अभिवादन...आज हम हैं....आपकी अदालत मेंये नामालूम है कि क्या हुआकर्नाटक की संसद में..कौन गुणा और कौन भागाचलिए ले चलते हैं आज की पढ़-सुनी की ओर... तुम जीवित हो माने कैसे?...श्वेता सिन्हाचित्र-मनस...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
3

1037... भांग

सभी को यथायोग्यप्रणामाशीषबूढ़े तन पे युवा मनअंदाज़ा नहीं होगा किसामने वाला चुप है तोकमजोर नहीं हैकसूरवार कौन हैमैं तू याभांगशाम को हम भाई अपने दोस्तों के साथछत पर बैडमिंटन खेलते थे, उस शाम को ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
1

1036..हमें आदत हो गयी है अब तो ऐसे समाचारों की

"सावधानी हटी,दुर्घटना घटी"  "सुरक्षा प्रथम,काम हरदम"|सारे अनमोल नारे धरे के धरे रह गये जब भीड़ भरे बनारस के व्यस्तम इलाक़े में लापरवाही से रखा निर्माणाधीन पुल का  गार्डर(बड़ा बीम) भरभरा कर ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
1

1035...जो बोया है वही काटोगे, यही दस्तूर है जीवन का...

सादर अभिवादन।चुनावी रैलियों में फँसा देश,वाराणसी में सरकारी लापरवाही का क्लेश,लाशों की सौदेबाज़ी में इंसानियत को शर्मसार करता परिवेश,कर्नाटक में राजनीति को सबक़ सिखाता जनादेश,राष्ट्र-निर...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
1

1034..हम अपनी -अपनी हद लिखते हैं..

।प्रातः वंदन ।। विश्व परिवार दिवस  (१५मई ) की हार्दिक शुभकामनाएँ । वक्त की जरूरत के मुताबिक हम भले ही एकल परिवार की ओर बढ़ रहे हैं रहे हैं पर संयुक्त परिवार के  खूबसूरती से इनकार नहीं किय...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
3

1033....माँ-सास... बहुत बारीक सा अंतर

जय मां हाटेशवरी.....आज कल 10वीं व 12वीं के परीक्षा-परिणाम आ रहे हैं......अधिकांश माता-पिता को चिंता है कि.....कहीं उनके बच्चों के नंबर पड़ोसी के बच्चों से कम न आ जाए.....अगर किसी बच्चे के नंबर माता-पिता की उम...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
1

1032.....हम-क़दम का अट्ठारहवाँ कदम

मातृदिवस पर सोशल मीडिया पर माँ के प्रति प्रकट किये गये असीम प्रेम और ममता के संदेशों से निकली निर्झरी से गदगद मन सोचने लगा, माँ सबके लिए अनमोल है।  माँ के रुप में नारी का श्रद्धापूर्वक पू...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
4

1031....ख़ामोशियों में चीख़ेे एहसास के बवंडर

सादर अभिवादनकुछ लिखने जैसा है ही नहींहालात सिखाते हैं, बातेंसुनना और सहना !!वरना....हर श़ख़्श फ़ितरत सेबादशाह होता है।। चलिए चलें लिंक की तरफ़...राकेश भाई की सुन्दर त्रिपदी...यही दस्तूर है जीवन...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
2

1030... बहुएं

सभी को यथायोग्यप्रणामाशीषबेटियों को प्यार करना स्वाभाविक हैगर्भनाल का रिश्ता हैक्या समधन की बेटी को स्वाभाविक प्यार मिलता है!आज हम बातें कर लेते हैं उनकी जो सजाती हैंघर आँगन ड्योढ़ी को और उ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
पाँच लिंकों का आनन्द
2
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
Reetesh Gupta
Reetesh Gupta
hoshangabad,India
Mithilesh kumar
Mithilesh kumar
begusarai,India
Mahesh kumar
Mahesh kumar
sikar,India
dr.neeraj yadav
dr.neeraj yadav
baran,India
buy lasix online
buy lasix online
fAsuOMODgxhMXmRZ,