@Abhi की पोस्ट्स

इतिश्री.... एक बुझे हुए दिये की।

GOOGLE IMAGEशहर के कोलाहल से दूरजंगल के वीरानों मेंनयी सड़क से लगी हुईपुरानी पशेमां गली परज़्यादा दूर नहींउस पीपल के पीछेएक टूटा-झुका सापर खण्डहर नहींहाँ उम्मीद का माराइस दरवाजे से जाता हुआउस निकास ...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
@Abhi
1

ऑटो अपडेट वर्जन

GOOGLE IMAGE लोग कहते हैंसमय के साथ प्यार पुराना हो जाता है,मगर जानतुम तो हमारा ऑटो अपडेट वर्जन हो,न पुराने होगेन बदलने पड़ोगे;हो भी तो वायरस फ्री,विश्वास और मोह के दो पायों पर टिकीशीत, ताप, बारिश की छत ह...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
@Abhi
2

नानी का पिटारा

नानी के देहावसान के बादसे ही उस संदूक की चाभी तलाश की जा रही थी। बच्चे से बूढ़े तक की नज़र ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
@Abhi
4

नानी का पिटारा

नानी के देहावसान के बात से ही उस संदूक की चाभी तलाश की जा रही थी। बच्चे से बूढ़े तक की नज़र &#...  और पढ़ें
7 दिन पूर्व
@Abhi
0

उन्मुक्त होकर जीने दो न हमें!

 GOOGLE IMAGEप्यार के बंधन में तो बंध जाते हैं सभीआज उन्मुक्त होकर जी लेने दो न हमें,सीने से लगा लो आज फिर हमकोकुछ न कहो लबों को सी लेने दो न हमें,समंदर की रेत पर कुँवारी ख्वाहिश के नामतुमने हमको जो इक ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
@Abhi
7

तुम्हारी उष्णता को घूँट-घूँट पियेंगे!

GOOGLE IMAGEहमारे मन के अधूरेपन को आकार देती तुम्हारी पूर्णताऔर तुम्हारे न होने पर पल-पल पिघलती हमारी लघुता,इसको साकार करना है हमेंनीलगगन का मिलन बनकर।तुम्हें चाँद क्या कहेंतुम तो आसमान हो हमारे,त...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
@Abhi
6

वो तेरह दिन...

 GOOGLE IMAGEकोई न बचाता मेरा अस्तित्व मेरी आत्मा के देह छोड़ने पर बड़के की माँ भड़क गई थी। पहली बार देखा था उसका इतना रौद्र रूप मैंने जब वो अनुनय-विनय न करके आदेश सुना रही थी।'तेरे बापू के सारे संस्कार व...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
@Abhi
7

Gulzaar: Poetry lives in his name1

Hat's off to his poetry. ye halka-halka saverajab tum mujhse kahte ho,shabd thithurte hothon parbaatein bhari ho jati hain. Tum naav-ummeedi par baithe,majhdhar ke shikve ruth gaye.Hum aankhon se kahein,tum dil se samajh lo.Suno na, ye ruthne-manane mein kya haisamjho na ishare, rafta-rafta chale zindagi.Tum meri baahon meinaur main tumhari aankhon mein.Aaj ek chhoti si koshish ki Gulzar sahab ke shabd aap tak pahunchane ki, apki pratikriyaon ka intizaar rahega. ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
@Abhi
5

2 अक्टूबर के दिन

क्या होगा इसके अलावाकि हम प्रतिमाओं परमाल्यार्पण करेंगेऔर नमन करेंगेउस महान विभूत...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
@Abhi
3

औरत को औरत ही रहने दिया जाए।

GOOGLE IMAGEबराबरी का दंश न सहने दिया जाए,औरत को औरत ही रहने दिया जाए,वो नींव है ज़मीर की,बुलन्दी है जज़्बात की,एक किस्सा है वफादारी का,हिस्सा है समझदारी का,वो कलम में भी है,वर्तनी में भी है,वो गर आंसुओं मे...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
@Abhi
4

अब मोमोज़ हो गई है।

GOOGLE IMAGEपहले रिश्तों कोधुला, सुखाया और फिरतला जाता था,अब सेंकने का भी समय नहीं मिलता है;तब जो कुरमुरे से हुआ करते थे,अब विद्युत यन्त्र मेंमरे से पड़े हैं:वो वक़्त नहीं रहाजब जायका थाअब तो दिखावे की त...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
@Abhi
2

एक रिश्ते की मौत

 GOOGLE IMAGEरोज़ की तरह उस दिन भी मैं रात लगभग 10 बजे घर वापसी कर रहा था। रास्ते सुनसान थे पर लगातार हो रही भयंकर बारिश ने मेरी गाड़ी की स्पीड बहुत कम कर दी थी। मुझे रह-रह कर माँ का खयाल आ रहा था कि आज भी गरम...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
@Abhi
4

माँ, हाईटेक हो गयी है

GOOGLE IMAGEमॉँ अब मुंडेरों पर राह नहीं तकती,मौसम की तरह बदल सी गयी है माँ,बहुत गर्म या बहुत ठंडी नहीं होतीमॉडरेट सी है कोशिश करती है मेरे साथ कदम से कदम मिलाने की.पहले अक्सर कहा करती थी फेसबुक, व्हाट्स...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
@Abhi
10

Ye_Mohabbatein

4 सप्ताह पूर्व
@Abhi
6

हमारे टोटके

GOOGLE IMAGE हार गए तुमसे प्यार जताकर,तुम दूर जाते होऔर मुस्कराते हो,तुम्हें पता ही है नहम तुम्हारे बस तुम्हारे हैं,तभी तो तुमसे हारे हैं;सुनो, आज हम मजार वालेफकीर बाबा के पास गए थे,उन्होंने सुबह और रा...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
@Abhi
4

Quote on Radha-Kanha

4 सप्ताह पूर्व
@Abhi
5

Tod sab kadi dil ki hathkadi

1 माह पूर्व
@Abhi
4

मुक्ति

PINTEREST IMAGEहर कविता में शब्द तुम्ही हो गीतों में लय है गर तुम होदिन तुम्हारे नाम से होता है शाम तुम्हारी यादों के साथ ढलती है,तुम्हारे सुख-दुःख से मौसम बदलता है,बारिश हो या तेज धूप चमके मेरे मन का इन्...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
6

तुम्हारी सैलरी

 PIC CREDIT: PINTERESTसुनो, जो तुम अपने मुस्कान वाली सैलरीदिया करते थे न हर रोज़ हमकोवो बिना बताए ही क्यों बन्द कर दी?कुछ कहें तो अगले महीने का वादा,उस पर भी ऐसी अदा से कहते होकि हम सच्चीअगले महीने की बाट जोह...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
1

मित्र, बस तुम ही तो थे!

जब तपती दोपहरी मेंरेत पर नंगे पाँव चल रही थी मैं,ठंडी हवा के झोंके के मानिंद,हौले से आये औरअहसास बनकर ठहर गए पास मेरेमित्र, तुम ही तो थे!तुम्हीं तो महसूसते हो मेरी ठिठुरतादे जाते हो सर्द रातों म...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
4

स्त्री रक्त पिलाकर क्या रक्तबीज पालती है?

 PIC CREDIT: PINTERESTस्त्री को मानव न समझकरअबला समझने वाले ए सबल पुरुषार्थियों,रे दम्भी समाज,मत पिला इन कानों को तेजाब का अमृत,अगर ये आंखें बेकाबू हो गयीतो मेरे सीने का दर्दतेरी ज़िंदगी पर ज्वालामुखी की ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
9

हिंदी से है हिन्दोस्तान!

GOOGLE IMAGEहम सब के माथे की शानहिंदी से है अपना हिन्दोस्तान,कश्मीर से कन्याकुमारी औरपोरबन्दर से सिलचर तकहिंदी ने कभी कोईसरहद या दीवार नहीं बनाई,सबने वही जुबां बोलीजो समझ में आई;फिर भी ये उपेक्षा की...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
5

हम बड़े क्यों हो गए

 PINTEREST IMAGE.तुम्हारे आलिंगन में आज वो अनुभव नहीं रहा,तुम्हारे अनुभवों मेंअब वो मिठास नहीं रही.पहले तो नहीं आते थे ऐसेजैसे कि तुम्हारा आनाकोई बहुत बड़ी बात हो.वो तुम्हारेछोटे-छोटे गिफ्ट्समुट्ठी...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
5

प्रद्युम्न, अब तुम कभी नहीं आओगे!

GOOGLE IMAGE अक्सर छोटे बच्चे स्कूल जाते वक्त अपनी माँ को इन बोलों की थपकी दे जाते हैं,'माँ, मैं जा रहा हूँतुम अकेले रहोगी न घर पर,डरना मत!यहीं दरवाजे पर इंतज़ार करना...'माँ कितने भी काम निपटा लेपर उसकी चौक...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
4

अपना-अपना आसमान

 PC: GOOGLEएक अरसे के बाद आज माँ ने बहुत दुलारते हुए कहा,'जितना समेटती जाओगी खुद कोउतनी ही फैलती जाएगी ये दुनिया,जितना पास जाओगी हर किसी के उतना ही खाली होता जायेगा मन तुम्हारा,कब तक पढ़ती रहोगी दुनि...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
3

कोई गुज़ारिश नहीं है अब तुमसे!

निस्तेज पड़ी रगों मेंलहू का संचार नहीं चाहिएन रुमानियत को गलाने वाली ऊष्मा,दर्द हर जड़&#...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
2

ULJHAN

1 माह पूर्व
@Abhi
3

हया की वो रात!

फूट-फूट कर रोया थावो पहली रातउस नामुराद के लिए,जब वो बोली थी'तुम्हें हमबिस्तर होने कात...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
3

जी नहीं पाऊँगी!

तुमसे बिछड़ना और उस पर भी जीना,तुम्हारे लिए ही सही पर वक़्त पर अब ये अहसान मुझसे न होगा,रो...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
3

ये तड़प बार-बार सुन लो!

बस मेरी पुकार सुन लोदर्द में है प्यार सुन लोआओ न इधर तो देखोये तड़प बार बार सुन लो...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
@Abhi
2
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
razak mohammed
razak mohammed
Kolkata,India
Shubham Jaiswal
Shubham Jaiswal
VARANASI,India
babaji babaji
babaji babaji
all,India
Brij bhushan choubey
Brij bhushan choubey
mumbai , maharastra ,India
Hindishayariclub
Hindishayariclub
Amravati,India
packersmovershyderabad
packersmovershyderabad
Hyderabad,India