विमल कुमार शुक्ल
मेरी दुनिया की पोस्ट्स

धार धर लो

11/03/2019वोट है तलवार इस पर धार धर लो।और अपने आप पर उपकार कर लो।।देश उन्नायक चयन का समय है ये।जोकरों खलनायकों का मान हर लो।।तुम मदारी हो जमूरे सामने हैं।एक निर्णय पंचसाला खेल कर लो।।लोकतंत्री नाव ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
मेरी दुनिया
3

सत्ता का प्रभाव

कंटकों से भरे हुए, पथ में जो जाना पड़े,पैर में पड़े जूतों से, प्यार हो ही जाता है।जहाँ संसदीयता की किसी से अपेक्षा बने,हाथ में लगे तो हथियार हो ही जाता है।पत्थरों में नाम जब खोदा नहीं जाता बन्धु,ने...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
मेरी दुनिया
0

टुकड़ा तेरी थाल का

मैं भी बहुत बड़ा कारण हूँ इस जग के जंजाल का,लाठी लेकर घूम रहा हूँ काम नहीं है बाल का।बहुत जटिल नक्शे देखे हैं, बहुत बड़ी तामिरें कीं, सबके पीछे झांक के देखा मसला रोटी दाल का। अपने अपने हाल की खातिर, ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
मेरी दुनिया
0

चुनावी समर

 इस चुनावी समर का हथियार नया है।खत्म करना था मगर विस्तार किया है।जिन्न आरक्षण का एक दिन जाएगा निगल,फिलहाल इसने सबपे जादू झार दिया है।अब लगा सवर्ण को भी तुष्ट होना चाहिए।न्याय की सद्भावना को...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
मेरी दुनिया
0

जागा भाग्य ऐ! बाले

1. अब सुबह क्या बात होगी?ये सुबह होगी न होगी?आ अभी अनुराग कर लें।आ परस्पर अंक भर लें।2. कल से तुम गुलाबी हो,किस पर जाल फैलाया।किसके तृषित अधरों का,जागा भाग्य ऐ! बाले।3. माना झूठ है मेरी,कविता भी क...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
मेरी दुनिया
8

पन्द्रह लाख

मन्दिर बन पाया नहीं, मिले न पन्द्रह लाख।मतदाता ने भी रखा, बीजेपी को ताख।।नए नोट की चमक सा, फीका हुआ प्रभाव।मतदाता सहलायेगा, कब तक अपने घाव।।भूल गए सब वायदे, सबका किया विकास।सबसे अधिक सवर्ण का, श...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
मेरी दुनिया
2

पटाखे का शोर

फुलझड़ी को देखकर ही भर गया है जी...ये दो घंटे भी हुजूर मेरे लिए पहाड़ हैं।चर्खी की चर्चा न करो, क्योंकि मैं स्वयं हो गया हूँ एक चर्खी जीवन के चाक पर चढ़ा हुआ। एक सेकंड भी और नाच नहीं सकता। दो घंटे में ...  और पढ़ें
5 माह पूर्व
मेरी दुनिया
6

मीठा खट्टा

एक मच्छर दूसरा तिलचट्टा है,एक सिल है तो दूसरा बट्टा है,थोड़ी खटर पटर ही सही,प्रेम में लुनाई न सहीथोड़ा मीठा है थोड़ा खट्टा है।।1।।तुम अनार का जूस पीती रहो,और हथिनी सा जीती रहो,चिन्ता ये नहीं कि तू ज...  और पढ़ें
5 माह पूर्व
मेरी दुनिया
6

नजर से गई

बहुत दिनों के बाद जिसे मैं कविता कहता हूँ प्रस्तुत कर रहा हूँ।शराफत शरीफों के घर से गई,हवेली हमारी नजर से गई।।कहाँ कौन शातिर बताये भला,चमन छोड़ चिड़िया किधर से गई।।करूँ वायदा फिर से मुमकिन नहीं,...  और पढ़ें
5 माह पूर्व
मेरी दुनिया
8

मुक्ति

सामने दुकान है, दुकान के पास खड़ा है नीम का पेड़, इस पेड़ के चारों ओर बाँधा गया है चबूतरा। कल तक पेड़ और चबूतरा दोनों प्रफुल्लचित्त रहते थे कल शायद फिर प्रसन्न हों किन्तु आज उदास हैं, शायद सिर्फ यही उ...  और पढ़ें
5 माह पूर्व
मेरी दुनिया
10

हमारी मत मानो

सीता जी के जन्म को लेकर बड़ा विवाद है भाई, कोई उन्हें जनकसुता कहता है तो कोई कोई उसे रावण ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मेरी दुनिया
9

तुम्हें बनाया सैंया हमने

27/05/2018सत्तर साल में जैसे झेले,तुम भी वैसे निकले बाबा।हम समझे थे शुरू हमारा,अब सौतन का राज गया।छाएगी हलवे की खुशबू,घर से लहसुन प्याज गया।संस्कृति संस्कृत के दिन आये,तन से खुजली खाज गया।घोड़े रेस ज...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मेरी दुनिया
11

ओ! मतवाली

18/05/2018आलिंगन की बेला थी तब दोनों खोये|यौवन के घमण्ड में भरकर मुड़ मुड़ रोये|निशा गयी प्राची में ऊषा झांक रही है|तब क्यों मुझसे भीख प्रणय की माँग रही है|विषय वासना के क्षण बीते ओ! मतवाली|शैय्या तज दे स...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मेरी दुनिया
10

दो दो जेठ

4/05/2018हम तो एक से ही परेशान थे।अब तो दो दो जेठ आ गये।बादल कहाँ हैं? घूँघट कर लूँ।फिर पिया की याद के झोंके सता गये।।उसके पास होने का अहसास,तपती दोपहर जिया जुड़ा जाता है।जेठ या देवर, चिन्ता नहीं होती,...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मेरी दुनिया
9

रेप समस्या व समाधान हेतु विमर्श

लिखना तो बहुत दिनों से चाहता था किन्तु लिखा नहीं| जैसे ही मोदी सरकार ने रेपिस्टों के खिलाफ कठोर कानून बनाया कि नाबालिग से रेप करने वाले को फाँसी की सजा दी जायेगी व अन्य में अधिकतम सजा उम्रकैद ह...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
17

मजाक

आज समाचार छपा है कि जनधन खातों से अब 24 घण्टे के लिए 5000 हजार का कर्ज बिना ब्याज लिया जा सकता ...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
12

प्रेम की लौ

हो सके तो प्रेम की लौ खुद जलाइए।यूँ नहीं इल्जाम ये हम पर लगाइए।खत अनेकों लिख लिए हैं ते...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
20

प्रेम

हर किसी के वास्ते ठहरा नहीं जाता। टोटकों से प्रेंम सच गहरा नहीं जाता।नेह उर  में हो अग&...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
12

बैशाखियाँ

हो लिया है बन्द भी और हो लिया उपवास भी|हानि में है देश क्या कुछ शेष है उपहास भी|खिंच गये पाले हमारे दो करों के मध्य में,हम हो गये हैं एक सँग प्रसन्न भी उदास भी|दी गयीं बैशाखियाँ थीं दस बरस के ही ...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
12

अंकित, अनीस, अनिकेत

गंगाघाट की सीढियों पर बैठे हुए संजय मानो गंगा माँ में तैरते व हिचकोले खाते हुए दीपों की गिनती कर रहा था| अभी सूरज ठीक से अस्त नहीं हुआ था, किन्तु हर की पैड़ी पर होने वाली गंगा आरती में भाग लेने के ...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
14

ऊँचा नीचा

उसको थोड़ा ऊँचा कर दो इसको थोड़ा नीचा।हम समान करके मानेंगे गद्दा और गलीचा।।कोई सिर न झु&...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मेरी दुनिया
16

मुझे जाँच लीजिये

भागने की कला में प्रवीण पैदाइशी हूँ,जब चाहे मुझे आजमाके देख लीजिये|छोड़ पाठशाला कई बार भाग आया घर,टीचरों से मेरे स्वर्ग जाके पूछ लीजिये|छिपता था ऐसी जगह ढूँढ़ हारते थे मित्र,कहते थे इसे कभी खेल म...  और पढ़ें
12 माह पूर्व
मेरी दुनिया
19

डाटा

जब मैंने पहली बार अपनी कनपटी पर,सफेद बाल देखा।तो भूल गया सुषमा, सुशीला, सुरेखा।वक्त का मैसेज ज्यों गाल पर चाँटा, यू हैव यूज्ड फिफ्टी परसेंट ऑफ योर डाटा।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्...  और पढ़ें
12 माह पूर्व
मेरी दुनिया
19

apna bana ke mujhe chhod na jana अपना बना के मुझे छोड़ न जाना

कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
25

काशी

https://youtu.be/ERAGv3MooNYकृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
27

होली पर कुछ रंग

होली पर कुछ रंग,मेरी कलम से बिना भंग|विजय माल्या से लिया, जिन असली संदेश।नीरव मोदी खेलि के, होली भगे विदेश।।पी एन बी के हाथ, लगी खाली पिचकारी।।1।।राहुल बाबा ने रखी, सब नातिन की लाज।नानी के घर खेल...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
28

होली खेल जाये

काश मय के साथ,पैमाना नाच उठे,और उड़ेल दे चारों ओर,बसंत की मादकता,और भुला दे कि आप,कुछ और नहीं इसी फागुनी पवन के,अंश हैं|अर्धांगिनी,मोहिनी नजर आये,वो जिसने,वैलेंटाइन पर उपहार,न स्वीकारा हो,आपके सा...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
23

पर्स

कल सभी को मुफ्त में पर्स बाँटे जायेंगे।हाथ फैलाना सम्भलकर हाथ काटे जायेंगे।क्या हु...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
24

समद्विबाहु त्रिभुज

समद्विबाहु त्रिभुज:- जिस त्रिभुज की दो भुजाएं बराबर हों समद्विबाहु त्रिभुज होता है|समद्विबाहु त्रिभुज का क्षेत्रफल:- यदि दो समान भुजाओं की लम्बाई a हो तथा तीसरी भुजा की लम्बाई b हो तो समद्व...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
30

सुनामी

कली यदि देखकर भँवरे को मुस्काई नहीं होती|समन्दर में सुनामी की लहर आई नहीं होती||मुझे क्या गर्ज थी बाँहों में उसको भर लिया मैंने,अगर द्वारे की साँकल उसने खटकाई नहीं होती||कृपया पोस्ट पर कमेन्ट क...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मेरी दुनिया
27
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
Ashish Bartwal
Ashish Bartwal
dehradun,India
Kailash Sharma
Kailash Sharma
Delhi,India
Shailesh Goyal
Shailesh Goyal
Faridabad,India
ANKUR DWIVEDI
ANKUR DWIVEDI
KANPUR,India
Santosh Kumar
Santosh Kumar
Gunderdehi, Balod, (Chhattisgarh),India
Jaideep
Jaideep
New Delhi,India