Nazariya Now की पोस्ट्स

विजेता - कहानी लिखो प्रतियोगिता - Freelance Talents Championship 2018

कहानी को ज़हन में उमड़ते असंख्य विचारों का ऐसा अर्क कहा जा सकता है जो सीधे मन पर मरहम की तरह काम करती है। कभी किसी भावना को जगाती तो कभी कोई नया एहसास करवाती। जहाँ इंटरनेट ने कई लेखकों को बड़ा मंच ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Nazariya Now
0

मानव ज्ञान का चरित्र और विकास ✍ सनी

इंसान ने अपने जीवन की संघर्षपूर्ण यात्रा की शुरुआत आज से लगभग 2,50,000 साल पहले की थी। उसने इस दौरान धरती पर हो रही अद्भुत गतिमान परिघटनाओं को समझा, उनमें से कुछ को अपने काबू में करना सीखा है। समुद...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
0

Comics Theory Ghosts of India - Horror Comics Anthology

कॉमिक्स थ्योरी Ghosts of India - Horror Comics Anthology का पहला इशू दिल्ली में Indie Comix  Fest में रिलीज़ किया गया है। कॉमिक्स थ्योरी  में भारतीय भूत-प्रेत की कहानियां को कॉमिक्स के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है।  कॉमि...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
6

भारतीय कॉमिक्स संसार के पितामह स्व. श्री प्राण कुमार शर्मा

भारतीय कॉमिक्स जगत  में  स्व. श्री प्राण कुमार शर्मा जी का नाम पूरे सम्मान के साथ लिया जाता है। प्राण जी के बनाये कॉमिक्स कैरेक्टर्स आज भी लोगों के दिलों में बसे हुए हैं। प्राण जी के बनाये क...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
6

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 31 मई - World No Tobacco Day 31st May

31 मई का दिन पूरी दुनिया में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है।  तम्बाकू एक धीमा जहर है जो व्यक्ति को धीरे धीरे करके मौत के मुँह मे धकेलता रहता है। लोग जाने अनजाने मे या सिर्फ शौ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
13

सफरनामा - लेखक आबिद रिज़वी साहब - भाग - 6

मैंने जाना अकरम ‘इलाहाबादी’ एम.एल. पाण्डेय तथा तीरथराम ‘फीरोजपुरी’उस दौर के लेखकों में अकरम ‘इलाहाबादी’ , एमएल, पाडेय, तीरथराम ‘फीरोजपुरी’ पूर्व में मैं लिख न सका; भूलने जैसी बात नहीं, अनभिज...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
3

Operation 136 - मीडिया का लालची चेहरा बेनक़ाब

मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना जाता है।  देश और समाज के निर्माण में मीडिया की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। मीडिया (इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट)  का काम सिर्फ जनता सही और निष्पक्ष त...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
4

भाग - 5 - सफरनामा - लेखक आबिद रिज़वी साहब

विलक्षणता की अगली झलकपहली सिटिंग 9 से 12 के बीच सोलह पेज तैयार हुए यानि एक फार्म। सात फार्म के छपने वाले नाॅवल का 1/7 भाग पहली सिटिंग में। भोजनावकश। खाना घर से आया था। मेरे लिए भी मंगवाया गया था। ...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
4

जागरूकता के आभाव में देश में बढ़ता जालसाज़ी का कारोबार

कुछ समय पहले एक मोबाइल कंपनी मात्र 251 रू. में स्मार्टफोन देने का दावा करके रातों रात चर्चा का विषय बन जाती है। प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया, सोशल मीडिया से लेकर आम जनता तक हर कहीं उस मोबा...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
8

सफरनामा - लेखक आबिद रिज़वी साहब - भाग - 4

सैयद मुजाविर हुसैन रिज़वी उर्फ मुज्जन साहब, पेन नेम ‘इब्ने सईद’, पश्ताकद, साधारण डील-डौल के, पर होंठों पर हर क्षण मुस्कान समेटे रहने वाले ऐसे इंसान, जिनके पास काबलियत का अथाह खाजाना हिलोरे मारत...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
Nazariya Now
14

भाग -3 : लेखक आबिद रिज़वी साहब का साठ सालों का सफरनामा उन्हीं की ज़ुबानी

प्यारे लाल ‘आवारा’ की शरण में इण्टर की परीक्षा देने के बाद, गर्मियों की छुट्टी तक किसी नामवर लेखक से ज्ञान हासिल करने की पिपासा में मैं एक सुबह, मई माह सन् 60 में जा पहुंचा मुट्ठी गंज, बिरहाना र...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
7

राज्यपाल वजूभाई वाला ने खुद को आदर्श राज्यपाल साबित करने का मौक़ा खो दिया

कर्नाटक में चुनाव परिणाम आने के बाद से चल रहे राजनैतिक घटनाक्रम का आखिरकार पटाक्षेप हो ही गया। बहुमत के लिए ज़रूरी आंकड़े तक न पहुँचने के कारण येदियुरप्पा ने बहुमत परीक्षण से पहले ही इस्तीफा द...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
5

भाग -2 : लेखक आबिद रिज़वी साहब का साठ सालों का सफरनामा उन्हीं की ज़ुबानी - लेखक : आबिद रिज़वी

लुगदी साहित्य का नामकरण-जब जासूसी-सामाजिक, जन साहित्य के रूप में चलन में आ रहे थे तो उनकी कम कीमत और जन-सामान्य तक पहुंच बनाने की लोकप्रियता ने उन्हें ‘सस्ता साहित्य’ नाम दिया गया। सस्ता साहित...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
10

लेखक आबिद रिज़वी साहब का साठ सालों का सफरनामा उन्हीं की ज़ुबानी - लेखक : आबिद रिज़वी (भाग -1)

क्यों आम जन में पढ़ी जाने वाली पुस्तकें लुगदी साहित्य कहलाती है?इलाहाबाद के प्रकाशन संस्थान और लेखक बंधुओं का साथ।आइए आपको ले चलते हैं अब से 60 साल पहले की दुनिया में। सन् 1958 का दौर! मैं उम्र के 16व...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
7

हट जा रे खड़ूस (कहानी) - लेखक : क़ैस जौनपुरी

मुम्बई सेंट्रल. यात्रीगण अपनी-अपनी ट्रेन के आने के इन्तज़ार में बैठे हैं. कुछ को ट्रेन पकड़ के कहीं जाना है. और कुछ, किसी के आने का इन्तज़ार कर रहे हैं. सुबह-सुबह शोर थोड़ा कम है. लोग भी कम हैं. कुली लोग...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
5

नेशनल टेक्नोलॉजी डे 11 मई - 11 May National Technology Day

11 मई  1998 को भारत ने अपना दूसरा सफल परमाणु परीक्षण पोखरण (राजस्थान) में किया था।  यह सफल परीक्षण टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भारत की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि थी।  इस उपलब्धि के कारण 11 मई को राष्...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
3

परमवीर कंपनी क्वार्टर मास्टर हवलदार अब्दुल हमीद ✍ आलेख : प्रेम प्रकाश - Paramveer Abdul Hameed

कारे और जीपे तो हजार देखी होगी आपने पर ये जीप नही देखी होगी। कभी नही देखी होगी। लेकिन ठीक है, नही देखी तो नही देखी, ऐसा क्या खास है इस जीप मे ! खास है साहब, बहुत खास है। आज हमारे जिले मे तो इस जीप को ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
Nazariya Now
3

पुस्तक समीक्षा - शोरूम में जननायक - व्यंग्य संग्रह - Showroom Men Jannayak

''शोरूम में जननायक''लेखक अनूप मणि त्रिपाठी जी का एक लाजवाब व्यंग्य संग्रह हैं।  उनकी इस किताब में एक से बढ़कर एक व्यंग्य हैं।  हर व्यंग्य अपने आप में अनूठा और लाजवाब।  लेखक अनूप जी के लिखने ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

पुस्तक समीक्षा : शिवगामी कथा - बाहुबली आरम्भ से पूर्व - The Rise of Sivagami Hindi

अगर आपको बताया जाये की कटप्पा के पिता का नाम ''मलयप्पा''था और कटप्पा का एक छोटा भाई भी था जिसका नाम ''शिवप्पा''था तो शायद आपको यक़ीन नहीं होगा क्योंकि बाहुबली फिल्म के दोनों पार्ट में ऐसा कुछ बताया...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

रुपया, अर्थव्यवस्था, महंगाई और राजनीति - व्यंग्य

शाम को बाहर  घूमने निकला तो देखा कि सामने से दुबला पतला कमज़ोर सा कोई शख्स लड़खड़ाता हुआ चला आ रहा है।  क़रीब पहुंचा तो देखा उसकी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब थी।  थके और लड़खड़ाते क़दमों के साथ वो बड़ी ह...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

मज़दूर दिवस का महत्व, कितना सार्थक हैं मज़दूर दिवस ? - 1st May Labor Day

भारत सहित दुनिया के अधिकतर देशों में 1  मई को अंतराष्ट्रीय मज़दूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। अमेरिका और कनाडा में सितम्बर महीने के पहले सोमवार को ,मज़दूर दिवस घोषित किया जाता है।  मज़दूर ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

मंजरी (कहानी) - लेखिका : ऋतु असूजा

अभी कुछ ही दिन पहले वो अपनी मौसी के साथ गाँव से शहर घूमने आ गयी  थी।  शहर की भागती दौड़ती चकाचौंध से भरी ज़िन्दगी मंजरी को लुभा रही थी । घर में मौसी-मौसा उनके चार बच्चे तीन  लड़कियाँ और एक चौ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

मौत का घर (कहानी) - लेखक : राजकमल जोलन्दावाला

आज एक बार फिर वह उन्हीं मैले-कुचैले कपड़ो में उदास, लाचारी भरा बेबस चेहरा लिए हुए इधर-उधर ताक रहा था। उसकी खामोश पथराई सी आँखें ना जाने क्या कहना चाहती थी, कोई नहीं जानता था। उसकी उम्र यही कोई 15 बर...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

निंदा आयोग की स्थापना - (व्यंग्य)

 देश-दुनिया में आये दिन कोई न कोई घटना होती रहती है और सरकार / जनप्रतिनिधि उस घटना की निंदा करके अपनी ज़िम्मेदारी पूरी कर लेते हैं और बेचारी जनता वो तो सिर्फ निंदा के अलावा कुछ और कर भी क्या सक...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

जन्मदिन पर महादेवी का स्मरण : मोतियों की हाट और चिंगारियों का एक मेला - ✍ प्रियदर्शन

कई अर्थों मे महादेवी वर्मा हिंदी की विलक्षण कवयित्री हैं. उनमें निराला की गीतिमयता मिलती है, प्रसाद की करुण दार्शनिकता और पंत की सुकुमारता- लेकिन इन सबके बावजूद वे अद्वितीय और अप्रतिम ढंग से ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

पुस्तक समीक्षा : चमनलाल की डायरी

व्यंगात्मक अंदाज में लिखे किस्से-कहानियों से जीवन के कई रंगों की तस्वीर उकेरती किताब है चमनलाल की डायरी। डॉ. प्रवीण झा (वामागांधी) का लेखन, व्यंग्यात्मक होते हुए भी एक गहराई लिए हुए है, जो आनंद ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

इंटरव्यू : एक खास मुलाक़ात लेखक श्री आलोक कुमार जी के साथ - An Exclusive Interview with Author Alok Kumar

कॉमिक्स/किताब कलाकारों/लेखकों प्रकाशकों के इंटरव्यू की विशेष श्रंखला में आज एक खास इंटरव्यू  में हम आपको रूबरू करवा रहे हैं लेखक श्री आलोक कुमार जी से । आलोक कुमार जी की पहली किताब  ‘’The चि...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

निकिता (कहानी) - लेखिका : मनीषा बनर्जी

टिंग टौंग टिंग टौंग की आवाज़ ने जब निकिता की नींद मे खलल डाली तो एकबार उसका पारा सातवें आसमान पर चढ़ गया। ऑफिस से वापस आने के बाद किसी भी सूरत में उसे यह बात मंज़ूर न थी कि कोई उसकी नींद खराब करे। वह ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4

रैप की घटनाओं के विरोध में फेसबुक अकाउंट डीएक्टिवेट प्रोटेस्ट - #DeactivateFBForRapeVictim #IndiaAgainstRape

देश में बढ़ती रैप की घटनाओं के कारण पूरे देश में आक्रोश है।  सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक लोग खुलकर इन घटनाओं का विरोध कर रहे हैं।  इन घटनाओं के विरोध में सोशल मीडिया पर भी कई तरह के अभियान भी चल...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
3

मौन विलाप (कहानी) - लेखक : ध्रुव सिंह 'एकलव्य'

चारों तरफ ख़ुशनुमा माहौल ,शोहर,गीत ढोल-बाजे के साथ पास-पड़ोस की महिलायें ,युवतियाँ और बुढ़िया काकी सभी इस जश्न के वातावरण में हास्य-व्यंग विनोद में सराबोर। भट्टे पर एक बड़ी-सी कढ़ाई ( जिसकी पेंदी संभ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
Nazariya Now
4
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
dhaniram astrologer
dhaniram astrologer
chandigarh,India
rahul gupta
rahul gupta
delhi,India
umesh chandra
umesh chandra
मनकापुर गोंडा उत्तर प्रदेश,India
RASHMI SUVARNA PATHARE
RASHMI SUVARNA PATHARE
AMBERNATH EAST,India
Arun verma
Arun verma
Mahmudabad,India
DrAjay
DrAjay
,India