मीडिया डाक्टर की पोस्ट्स

सुबह टहलने वाले इस शख़्स के जज़्बे को सलाम

मैं अच्छे से जानता हूं कि सुबह का वक़्त अपने लिए ही होता है ... खु़द के साथ रहने के लिए, क़ुदरत के साथ रहने के लिए...रोज़ाना टहलने के लिए भी ...लेकिन पिछले कुछ हफ़्तों से मेरा टहलना छूटा हुआ था ...कुछ नह...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
मीडिया डाक्टर
7

नये साल की दुआ....साहिब नज़र रखना

२००७ से यह ब्लॉग लिखना शुरू किया था...वे दिन भी क्या दिन थे..लगभग रोज़ाना कुछ न कुछ इस ब्लॉग पर छाप दिया करता था...फिर पता नहीं यह क्या फेसबुक और बाद में यह व्हाट्सएप पर कुछ कुछ लिखते-पढ़ते रहने से श...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
मीडिया डाक्टर
8

खाते-पीते लोग एक साथ और कहां मिलेंगे!

कल और आज यहां लखनऊ के एक पार्क में टहलते हुए कुछ तस्वीरें लीं जिन्हें आप से शेयर करने की इच्छा हो रही है ...कल लखनऊ के इस पार्क के बाहर लोगों का जमावड़ा देख कर दूर से तो ऐसे लगा जैसे लौकी, आंवले का ज...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

मंटो - एक बेहतरीन फ़िल्म

कुछ अरसा पहले से सुन रहे थे कि मंटो फिल्म आने वाली है ...जिसे जानी मानी हस्ती नंदिता दास बना रही हैं और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी इस में मंटो की भूमिका में नज़र आएंगे। दो दिन पहले इस फिल्म को देखने का ...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

परवाज़ सलामत रहे तेरी, ए दोस्त

आज सुबह ११ बजे के करीब मैं एक मरीज़ का चेक-अप कर रहा था...इतने में मेरे कमरे के बाहर पंक्षियों की तेज़ तेज़ आवाज़ें आईं...इस तरह की आवाज़ें अकसर तभी सुनती हैं जब कोई पंक्षी किसी मुश्किल में फंस जात...  और पढ़ें
5 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

जब तोप मुकाबिल हो तो ...

सातवीं-आठवीं कक्षा के दौरान एक दिन बैठा मैं  समाचार-पत्र पर निबंध लिख रहा था ..मेरे पिता जी साथ ही बैठे हुए थे...पहले पेरेन्ट्स के पास बच्चों के लिए समय भी होता था...उन्होंने कहा कि शुरू में यह भी ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

जाने-माने बाबाओं के किस्से

दो तीन दिन पहले मैं मुंबई के क्रॉसवर्ड में कुछ किताबें खरीद रहा था ..अचानक मेरी नज़र एक किताब पर पड़ी...उस का  शीर्षक ही बड़ा आकर्षक लगा...किताब का टाईटल था ..गुरू- भारत के जाने-माने बाबाओं के किस्...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

घने दरख्तों को पीढ़ीयां पलोसा करती हैं..

किसी भी जगह जाऊं तो वहां का पुराना शहर, पुराने घर और उन की घिस चुकीं ईंटें, वहां रहने वाले बुज़ुर्ग बाशिंदे जिन की चेहरों की सिलवटों में पता नहीं क्या क्या दबा पड़ा होता है और इस सब से साथ साथ उस ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

बाहर के खाने से अब डर लगता है ...

मैं मीट, मछली, अंडा नहीं खाता, इस का बिल्कुल भी धार्मिक कारण नहीं है ...एक तो मुझे अच्छा नहीं लगता और दूसरा मुझे मैडीकल/वैज्ञानिक नजरिये से भी (इस को भी आप अधिकतर पर्सनल ही समझिए) ठीक नहीं लगता ....जि...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

बॉम्बे रोजनामचा..

आज सुबह मेरे पास यहां लिखने के कुछ खास है नहीं...बस, अपने उस्ताद की बात याद आ गई..दरअसल आज से १६-१७ साल पहले मैं केंद्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा आयोजित एक नवलेखक शिविर में शामिल होने आसाम के जोरहाट...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

नकली दांतों के असली किस्से

नकली दांतों की बात करता हूं तो बचपन के वे दिन याद आ जाते हैं अकसर ...जब हम लोग ननिहाल में गये होते ...नाना जी खाना खाने के बाद हैंडपंप के पास पहुंचते और बच्चों में से किसी को एक इशारा ही मिल जाता कि अ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

आज के दिन पानी की बातें ही होंगी...

सुबह अखबार देखा तो एक पूरी फेहरिस्त भी दिखी थी कि आज के दिन विश्व जल दिवस के मौके पर कौन कौन से प्रोग्राम कहां कहां होने जा रहे हैं...मैं आज के दिन के बारे में शायद भूल ही गया होगा अगर आज सुबह छोटी ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

सोना कितना सोना है ...

आज सुबह पहली मरीज़ थी एक महिला ५० साल के करीब की उम्र की ... आध घंटे पहले अपने पति के साथ अस्पताल ही आ रही थी कि लखनऊ के ईको गार्डन के पास दो लुक्खे आए ...और उसके एक कान की सोने की बाली खींच के हवा में उ...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

दिन भर में कितना पानी पिएं और कब पिएं?

मुझे ऐसा लगता है कि यह सवाल बड़ा अहम है ...कि हमें कितना पानी पीना चाहिए और कब पीना चाहिए...इस के बारे में बिन मांगी सलाह देने वालों का तांता लगा हुआ है ... इतने लोग आप को इस सवाल का जवाब अपने अपने तरीक...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

शौचालय में बैठने का सही तरीका

मैं किसी भी काम के माहिरों की बहुत कद्र करता हूं और यह ज़रूरी भी है ... ये लोग अपनी सारी ज़िंदगी अपने काम में महारत हासिल करने में गुज़ार देते हैं...इसलिए जब भी वाट्सएप पर कोई भी पोस्ट किसी माहिर की...  और पढ़ें
10 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

एक कंपनी के आटे में प्लास्टिक वाली वीडियो फेक है ...

फैंकना, फैंकू.....आज कल वैसे भी इन शब्दों से बच कर ही रहना चाहिेए...लोग कहने लगते हैं कि फलाना-ढिमका फैंकूं हूं... लेकिन यहां एक फेक वीडियो ...मतलब यहां पर लोगों को गुमराह करने वाली वीडियो की बात हो रही...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

मेडीकल पोस्ट शेयर करने से पहले ...

सुबह से शाम हो जाती है ...वाट्सएप पर हर तरह का ज्ञान हम तक पहुंचता रहता है ...सच झूठ का कुछ पता नहीं चलता, दंगे- फसाद शुरू हो जाते हैं इन के चक्कर में .. इसी तरह से लोगों में नफ़रत फैलाने का एजेंडा लिए ह...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

गुरबत, अनपढ़ता, बेबसी, दबंगई ...दोषी कौन?

यह जो यूपी के उन्नाव में एक बात सामने आई है कि एक झोलाछाप डाकदर लोगों को एक ही सूईं से टीके लगाता रहा..जिस की वजह से २५ लोगों को एचआईव्ही संक्रमण हो गया ... मीडिया को तो टीआरपी भी देखनी है .. अभी एक पत...  और पढ़ें
11 माह पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

टमाटर के बिना ही बन रही है टमाटर सॉस

अकसर अगर हम नामी गिरामी कंपनियों के अलावा टमाटर सॉस की बात करते हैं तो हमारा इंप्रेशन यही होता है कि चालू कंपनियां सडे़-गले टमाटर इस्तेमाल करती होंगी और इन को तैयार करते वक्त स्वच्छता के मानक...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

और उस नन्हें बालक की सांसे थम गईं...

वाटसएप पर दो दिन पहले एक संदेश आया कि सारा संसार तो नफ़रत की आग में धधक रहा है, पता नहीं फिर यह कमबखत ठिठुरती सर्दी कहां से आई? मैं भी सहमत हूं इस बात से ...जिस तरह से हम लोगों ने आपस में तरह तरह की दी...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

धोना या पोंछना ? - हिंदोस्तानी ठीक ठाक कर लेते हैं...

स्वच्छता अभियान...टायलेट एक प्रेम कथा फिल्म ही बन गई... दरवाज़ा बंद करो अभियान...हर घर में टायलेट बनाएं...पिछले तीन साल से ऐसे बहुत से अभियान चल रहे हैं..अच्छी बात है ..बड़ा अहम् मुद्दा है जिस तरफ़ लो...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

झोलाछाप का इलाज कौन करे!

 ये जितने भी झोलाछाप तीरमार खां हैं न ये लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं.. लोग सस्ते के चक्कर में या किसी और बात के कारण इन के चक्कर में आ ही जाते हैं... आज से लगभग ३० साल पहले की बात है ...मैं...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

पेड़ों की रेडियोफ्रिक्वेंसी टैगिंग की नौबत आन पहुंची है ..

पीछे कुछ तरह तरह के पशुओं की रेडियोफ्रिक्वैंसी टैगिंग की बातें हो रही थीं...अभी पंजाब का एक नेता भी कुछ ऐसा ही कह रहा था ....मैंने कुछ ज़्यादा ध्यान नहीं दिया, क्योंकि इस तरह की कुछ खबरों में तो ज़्...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

डाक्टरों की बोलचाल का लहज़ा ..

मुझे बहुत बार ध्यान आता है कि डाक्टरों की बोलचाल में कुछ तो सुधार की ज़रूरत होती ही है ....विरले डाक्टर ही दिखते हैं जो एक कुशल चिकित्सक के साथ साथ कम्यूनिकेशन में भी बहुत अच्छे होते हैं...मरीज़ क...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

मैं आज भी फैंके हुए पैसे नहीं उठाता...

हिंदोस्तानी सिनेमा में देशवासियों की संवेदनाओं को जगाने का बहुत बड़ा काम अंजाम दिया है .... अभी भी लोग लगे ही हुए हैं.. आज भी मैंने जब बंबई के एक उपनगरीय स्टेशन पर इस तरह से बूट पालिश होते देखे तो म...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1

प्याज़ के बारे में आप यह सब ज़रूर जानिए...

प्याज़ नाम से हमारा राब्ता स्कूल के दिनों में हुआ...जब साथ पढ़ने वाले कुछ खुराफ़ाती बच्चों से पता चला कि प्याज़ को अगल कुछ समय के लिए बगल के अंदर दबा लें तो बुखार जैसे लक्षण पैदा हो जाते हैं... और फ...  और पढ़ें
1 वर्ष पूर्व
मीडिया डाक्टर
1
 
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!