डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
सृजन मंच ऑनलाइन की पोस्ट्स

भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना ----भाग चार— केवल वैदिक हिन्दू धर्म ही जीवित रहा - –डा श्यामगुप्त

                 भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना ================================================= - –डा श्यामगुप्त भाग चार— केवल व...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
3

मेरी अतुकांत काव्य कृति -'काव्य मुक्तामृत. से एक रचना ----हम कब चेतेंगे----डा श्याम गुप्त

                                            मेरी अतुकांत काव्य कृति -'काव्य मुक्तामृत. से एक रचना ----हम कब चेतेंगे---- प्रस्तुतकर्ता shyam guptaपर 11:33 amलेबल...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
3

भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना -–भाग तीन – हिन्दू धर्म को जिन्दा कैसे रखा गया –डा श्यामगुप्त

                           भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना -–डा श्यामगुप्त =================================================भाग तीन – हिन्दू धर्म को जिन्दा ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
5

भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना -–भाग दो--वैदिक धर्म में कुरीतिया कैसे आईं ---डा श्यामगुप्त

                                          भारत मेंवर्ण व्यवस्था वजाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना -–डा श्यामगुप्त          ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
7

भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना-----भाग एक -- -–डा श्यामगुप्त

                                   भारत में वर्ण व्यवस्था व जाति प्रथा की कट्टरता -एक ऐतिहासिक आईना =================================================            &nbs...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
5

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --पोस्ट १०----उपसंहार ----डा श्याम गुप्त

                              भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र-संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण- --डा श्यामगुप्त  ---पोस्ट-दस-अंतिम किश...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
5

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--नवम --डा श्याम गुप्त

                             भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--नवम --डा श्याम गुप्त ----------------------------...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
6

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--आठ --डा श्याम गुप्त

                                 भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--आठ  --डा श्याम गुप्त--...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
7

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--सप्तम --डा श्याम गुप्त

                                  भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--सप्तम  --डा श्याम ...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
7

who is guilty?

कसूरवार कौन ? #meremankee #rishabhshukla #book #poetry #hindi #onlinegathaबात तब की है जब मै सिर्फ १२ साल का था | मै अपने जन्म स्थान, उत्तरप्रदेश के भदोही जिले में अपने माता-पिता के साथ रहता था | वही भदोही जो अपने कालीन निर्यात के लि...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
13

गुरुवासरीय साहित्यिक-गोष्ठी –इतिहास के आईने से ....डा श्याम गुप्त

                              गुरुवासरीय साहित्यिक-गोष्ठी –इतिहास के आईने से .... ======================================                          ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
13

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--षष्ठ --डा श्याम गुप्त

                              भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट--षष्ठ --डा श्याम गुप्त----पूर्व...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
12

डा श्याम गुप्त की सद्य प्रकाशित, ई बुक ,,,काव्य-काँकरियाँ ...(.गीति व अगीत....तुकांत व अतुकांत लघुकाओं का संग्रह )

                       डा श्याम गुप्त की सद्य प्रकाशित,  ई बुक ,,,काव्य-काँकरियाँ ...(.गीति व अगीत....तुकांत व अतुकांत लघुकाओं का संग्रह ) ----- वर्जिन साहित्यपीठ द्वारा ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
12

रामनवमी पर विशेष --- -----राम की राजनीति--- डा श्याम गुप्त...

                       रामनवमी पर विशेष --- -------------------------राम की राजनीति--- =============== ---- आज राम राजनीति के केंद्र तो हैं परन्तु राम की राजनीति राजनैतिक केंद्र से दूर है | राम क...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
10

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट-पांच--डा श्याम गुप्त

. भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण           आजकल हमारे देश में गोंड आदिवासी दर्शन और बहुजन संस्कृतिव महिषासुर के नाम प...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
11

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती हुई नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --पोस्ट चार----- डा श्याम गुप्त ---

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती हुई नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --पोस्ट चार----- डा श्याम गुप्त --- =============================================== .. --------------------------- ----- एक धारावाहिक क्रमिक आलेख--प...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
15

दोहे श्याम के----डा श्याम गुप्त

दोहे श्याम के----ईश्वर अल्ला कब मिले , हमें झगड़ते यार ,फिर मानव क्यों व्यर्थ ही करता है तकरार |काली करी कमाई, अरबों लिए कमाय,क्यों घबराये चित्त में, मंदिर दे बनवाय |चाहे पद पूजन करो,या साष्टांग प्रण...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
11

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती हुई नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण ---पोस्ट तीन- ---डा श्याम गुप्त ---

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती हुई नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --- डा श्याम गुप्त --- --------------------------- ----- एक धारावाहिक क्रमिक आलेख--पोस्ट तीन ------ -------------------------------============...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
19

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --- एक क्रमिक आलेख--पोस्ट दो---डा श्याम गुप्त

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध उठती नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --- एक क्रमिक आलेख--पोस्ट दो---डा श्याम गुप्त--- ===========आगे पोस्ट दो------समाधान ६ से १० तक---- कथन -६- -----------अब हम इसी क्...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
18

सहधर्मिणी – सह्कर्मिणी---कहानी ..--डा श्याम गुप्त....

                 सहधर्मिणी – सह्कर्मिणी---कहानी .. ====================                और आजकल क्या नए नए विचार प्रश्रय पा रहे हैं, नवीन काव्य-रचना हेतु....मैं स्वयं तो ...  और पढ़ें
2 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
17

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --- एक क्रमिक आलेख--- पोस्ट एक --डा श्याम गुप्त

भारतीय धर्म, दर्शन राष्ट्र -संस्कृति के विरुद्ध नवीन आवाजें व उनका यथातथ्य निराकरण --- एक क्रमिक आलेख-----डा श्याम गुप्त                                  &n...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
20

महिला सशक्तीकरण------तब अब ---कुछ झलकियाँ---- भाग एक-----डा श्याम गुप्त ....

महिला सशक्तीकरण------तब अब ---कुछ झलकियाँ---- भाग एक----- चित्र-गूगल साभार ---...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
18

महिला दिवस पर--कहानी हमारी -तुम्हारी ---डा श्याम गुप्त ...

महिला दिवस पर--कहानी हमारी -तुम्हारी ---डा श्याम गुप्त ...                महिला दिवस पर---\कहानी हमारी -तुम्हारी ===============ये दुनिया हमारी सुहानी न होती ,कहानी ये अपनी कहानी न होती ।...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
13

२nd इनिंग सेनियर सिटीज़न ग्रुप आशियाना, के-सेक्टर,लखनऊ का होली मिलन समारोह---डा श्याम गुप्त

2nd inning senior citizens group Ashiana, k-sector,Lucknow -----२nd इनिंग सेनियर सिटीज़न ग्रुप आशियाना, के-सेक्टर,लखनऊ ---का होली मिलन समारोह --कुछ झलकियाँ ---ग्रुप के उद्देश्यव कार्यक्रम बताते हुए श्री अतुल दुबे संचालन -अतुल दुबे सबस...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
20

साहित्यकार दिवस-२०१८ --श्री जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता पुरस्कर२०१८ ...डा श्याम गुप्त ....

साहित्यकार दिवस-२०१८ --श्री जगन्नाथ प्रसाद गुप्ता पुरस्कर२०१८ ...डा श्याम गुप्त ....                                               डा रं...  और पढ़ें
3 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
16

डा श्याम गुप्त के पद----

कान्हा तेरी वंसी मन तरसाए |कण कण ज्ञान का अमृत बरसे, तन मन सरसाये |ज्योति दीप मन होय प्रकाशित, तन जगमग कर जाए |तीन लोक में गूंजे यह ध्वनि, देव दनुज मुसकाये |पत्ता-पत्ता, कलि-कलि झूमे, पुष्प-पुष्प खि...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
16

वो जब आये आये, बहुत याद आये -----मेरा शहर, ख़ास शहर.... डा श्याम गुप्त

                          वो जब आये आये, बहुत याद आये -----मेरा शहर, ख़ास शहर.... ================================================                      विश्व इतिहास के स...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
14

तुम तुम और तुम ----डा श्याम गुप्त

 तुम तुम और तुमसकल रूप रस भाव अवस्थित , तुम ही तुम हो सकल विश्व में |सकल विश्व तुम में स्थित माँ,अखिल विश्व में तुम ही तुम हो |तुम तुम तुम तुम , तुम ही तुम हो,तुम ही तुम हो तुम ही तुम हो ||तेरी वींणा क...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
16

पुस्तक-समीक्षा —-जिज्ञासा काव्य-संग्रह ---डा श्यामगुप्त

पुस्तक-समीक्षा —-जिज्ञासा काव्य-संग्रह ---डा श्यामगुप्त                                  पुस्तक-समीक्षा------समीक्ष्य कृति—-जिज्ञासा काव्य-संग्रह --- रचन...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
14

गीत, अगीत और नवगीत...डा श्याम गुप्त

                                गीत, अगीत और नवगीत ===========================आजकल हिन्दी साहित्य व काव्य में पद्य-विधा के सनातन रूप गीत के दो अन्य रूप अगीत एवं नव...  और पढ़ें
4 माह पूर्व
सृजन मंच ऑनलाइन
14
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
Chandramani
Chandramani
,India
Himanshu Goyal
Himanshu Goyal
Jaipur,India
jayprakash
jayprakash
mohammad ganj,India
Chandni
Chandni
Shahjahanpur,India