अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

Purple mulberry - Gelsi viola - जामुनी शहतूत

Bologna, Italy: In our school in Delhi, there was a mulberry tree but I had never seen mature mulberries on it because children use to eat whatever fruit they saw. Here, near our home the mulberry trees are full of fruit but few persons eat them and mostly the fruit falls on the ground. Every time I eat mulberries I feel as if I have turned into a child because when I come back to home with my hands and mouth purple and stain marks on my shirt, I know that my wife will scold me!बोलोन...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SUNIL DEEPAK
Chayachitrakar - छायाचित्रकार
87

धरती अपनी बचाओ [रोला छंद]

चित्र से काव्य तक छंदोत्सव चलो उठो मनुज अब ,निद्रा अभी तुम त्यागो जाग जाएंगे सब ,स्वयं तो पहले जागो नदिया पेड़ पहाड़ ,करें ना तेरी मेरी रखो इसे संभाल , सब हैं धरोहर तेरी लगे तुम्हें क्य...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सरिता भाटिया
गुज़ारिश
73

सूरज के घोड़े

सूरज के घोड़े चलते हैं निरंतर, इस कोने से उस कोने तक ताकि प्रकाश फैले कोने कोने में.लेकिन घोड़ों के घर ही में रहता है अँधेरा. प्रकाश उनसे ही रहता है दूर.लेकिन उन्हें बोलने की इजाजत नहीं   मांग...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
KAVYASUDHA (काव्य सुधा)
KAVYA SUDHA (काव्य सुधा)
49

वाह रे ममता बेनर्जी वाह

तृणमूल कांग्रेस के पश्‍िचमी बंगाल में लाल के लिए कोई जगह नहीं। लाल को सत्‍ता से बर्खास्‍त कर चुकी ममता बेनर्जी की अगुवाई वाली सरकार ने गत 5 अगस्‍त को आये सर्वोच्‍च अदालत के फैसले लाल बत्‍ती का...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kulwant Happy
Fast Growing Hindi's Website
72

उधौ मन नाहिं दस बीस , एकहु तो सो गयो श्याम संग , को अराध तू ईस।

"भ्रमरगीत से "-सूरदास निर्गुण कौन देस को वासी ,मधुकर !हंसि समुझाय ,सौहं दै ,बूझत सांच न हाँसी। को है जनक ,जननि को कहियत ,कौन नारि ,को दासी। कैसो बरन भेस है कैसो ,केहि रस में अभिलासी। पावेगो पु...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
38

"राम राज्य स्थापित हो पाएगा" (शनिवारीय चर्चा मंच-अंकः1340)

मित्रों।शनिवार की चर्चाकार श्रीमती वन्दना गुप्ता अभी अस्वस्थ चल रहीं हैं। इसलिए आज मेरी पसंद के कुछ लिंक देखिए!(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')सच्ची आज़ादी... डा श्याम गुप्त हमारी सच्ची  आज़...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
172

हिंदी ब्लॉग समूह , {शुभारंभ}

शुभारंभ आज से एक नए कालम का शुभारंभ करने जा रहा हु जिसका नाम है हिंदी ब्लॉग समूह, सभी हिंदी ब्लॉग को एक जगह पर लाने का प्रयास , हिंदी ब्लॉग समूह के अंतर्गत हम हर {सोमवार} चर्चा करेंगे कुछ चुनि...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
73

स्मॉल स्क्रीन है ना !

-सौम्या अपराजिताजब किसी मंच पर अपेक्षित सफलता और प्रशंसा नहीं मिलती है,तो कलाकार नए जोश के साथ खुद को बेहतर साबित करने के लिए दूसरे मंच और अवसर का इंतज़ार करते हैं। रुसलान मुमताज ने भी वही किया...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Somya
सौम्य वचन
74

सक्रिय और प्रिय करीना

 -सौम्या अपराजितानिजी जीवन की खुशियों को करीने से संजोते हुए फिल्मों की राह पर सधे कदम बढ़ा रही हैं करीना कपूर। करीना कपूर 'खान' बन गयी हैं,पर उनके तेवर और अंदाज वही है। खुद को साबित करने का उनक...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Somya
सौम्य वचन
100

यह है भारतीय रेल का गौरवपूर्ण करिश्मा

16-अगस्त-2013 15:59 ISTपूरी दुनिया की जनसंख्‍या के बराबरयात्रियों को सफर कराया                                                         रेलवे की उपलब्धियों पर विशेष लेख जहां तक...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rector Kathuria
रेल स्क्रीन
0

उधौ मन नाहिं दस बीस ,

 भ्रमर गीतसे एक और पद -सूरदास उधौ मन नाहिं दस बीस ,एकहु  तो सो गयो श्याम संग ,को अराध तू ईस। (अब काहू राधे ईस ).. भई अति शिथिल  सबै माधव बिनु ,यथा देह बिन सीस ,स्वासा अटक रहे ,आसा लगि ,जीव ही कोटि ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
35

कश्मीर से आये राही बता

कश्मीर से आये राही बता किस हाल में हैं यारां -ए-चमन मजलूम जो सहमे रहते थे किस हाल में है अवाम -ए -वतन क्या अब भी वहाँ की गलियो में , खून की नदियाँ की बहती हैं... क्या अब भी दुआएं लब पे लिए , वहाँ माएं प...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
loksangharsha
लो क सं घ र्ष !
39

"भ्रमरगीत से "-सूरदास

 "भ्रमरगीत से "-सूरदास निर्गुण कौन देस को वासी ,मधुकर !हंसि समुझाय ,सौहं दै ,बूझत सांच न हाँसी। को है जनक ,जननि को कहियत ,कौन नारि ,को दासी। कैसो बरन भेस है कैसो ,केहि रस में अभिलासी। पावेगो ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
33

श्याम स्मृति-२१ .......ईश्वर की आवश्यकता ......डा श्याम गुप्त ....

श्यामस्मृति-२१.......ईश्वरकीआवश्यकता..          आखिरहमेंउसईश्वरकीआवश्यकताहीक्याहैजोअतनीसुन्दरदुनियायासमाजकोत्यागकरमिले| ईश्वरकीआवश्यकताउन्हेंहैजोईश्वरकेअभावमेंदुखीहैं| य...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
52

हिदुत्व के व्यापक विरोध के कारण गनजवी 10 प्रतिशत भारत भी नही जीत पाया था

आनंदपाल के पश्चात उसके पौत्र भीमपाल ने अपने महान पूर्वज राजा जयपाल की वीर और राष्टभक्ति से परिपूर्ण परंपरा को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया। इस शिशु राजा को पुन: कुछ अन्य राजाओं ने सैन्य सहायता द...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Praveen Gupta
हिन्दू - हिंदी - हिन्दुस्थान - HINDU-HINDI-HINDUSTHAN
112

SKANDGUPTA - स्कन्दगुप्त

कुमारगुप्त की पटरानी का नाम महादेवी अनन्तदेवी था। उसका पुत्र पुरुगुप्त था। स्कन्दगुप्त की माता सम्भवतः पटरानी या महादेवी नहीं थी। ऐसा प्रतीत होता है, कि कुमारगुप्त की मृत्यु के बाद राजगद्द...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Praveen Gupta
हमारा वैश्य समाज - HAMARA VAISHYA SAMAJ
93

ब्युटी पार्लर

मुलगी : कशी दीसतेय मी आज..आत्ताच ब्युटी पार्लर ला जाऊन आले ..............मुलगा : मग ..???आज पण बंद होते का??...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
vaghesh
विनोद नगरी
51

The base of success – The only goal setting

सफलता  का आधार- एक ही लक्ष्यका निर्धारण                एक युवा हो रहे किशोर ने एक rich man का ठाठ-बांट देखा और उससे inspireहो उसने सोचा कि मुझे भी इस व्यक्ति कि तरहधनवान बनना चाहिए, फिर ये सोच कर, ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
richa shukla
Hindi Blog For Motivational, Personal Development Article,knowledge of computers technology, job
92

64. आया सावन झूम के...

आजकल आमतौर पर झमाझम बारिश का नजारा देखने को नहीं मिलता. कल, यानि 15 अगस्त को ही, दोपहर तक गर्मी और उमस का मौसम रहा... उसके बाद जो बारिश शुरु हुई... कि क्या बताया जाय... ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
जयदीप शेखर
कभी-कभार
45

"टिप्पणी में ग़ज़ल" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

मेरे आँगन में उतरे सितारे बहुत,किन्तु मैंने मदद को पुकारा नहीं।तक रहे थे मुझे हसरतों से बहुत,मैंने हाँ भी न की और नकारा नहीं।मेरी खुद्दारियाँ आड़े आतीं रहीं,मैंने माँगा किसी से सहार...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
36

સ્વતંત્રતા દિવસની રાત્રીએ તસ્કરોએ ઉજવી આઝાદી, આશ્રમમાંથી ૩૨,૦૦૦ ની મત્તા ઉપાડી ગયા

By Ilyaskhan Pathan,wankaner :         વાંકાનેરના છેવાડે રાજકોટ રોડ પર આવેલા શ્રીરણછોડદાસજી બાપુના સદગુરૂ આનંદ આશ્રમમાં ગઈકાલે સ્વતંત્રતા દિવસની રાત્રીએ તસ્કરો ત્રાટકયા હતા. તસ્કરો આશ્રમના પુજા...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Ilyaskhan
Report by Ilyaskhan
101

एबीपी न्‍यूज ने शुरू किया आपका ब्‍लॉग

लिखने वाले को चाहिए प्‍लेटफॉर्म, थोड़ी सी प्रसिद्धि, और कंपनी को माल। इंटरनेट की दुनिया में अब ब्‍लॉगरों का दम बोलने लगा है। कल तक पानी पी पी कर कोसने वाले आज ब्‍लॉग जगत के धुरंधरों को अपनी ओर ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kulwant Happy
Fast Growing Hindi's Website
79

"मेरी साइकिल" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

अपनी बालकृति "हँसता गाता बचपन" सेएक बालकविताप्रस्तुत कर रहा हूँ-"मेरी साइकिल"मेरी साइकिल कितनी प्यारी।यह है मेरी नई सवारी।।अपनी कक्षा के बच्चों में,फर्स्ट डिवीजन मैंने पाई,खुश होकर तब बाब...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
181

कंधमाल हिंसा और उसके बाद

इस साल 25 अगस्त को, देश की सबसे बड़ी ईसाई-विरोधी हिंसा और आदिवासी क्षेत्र में अब तक हुए सबसे भयावह साम्प्रदायिक दंगे को पांच साल पूरे हो जायेंगे। इस त्रासदी के पीडि़त आज किस हाल में हैं? क्या उन्...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
loksangharsha
लो क सं घ र्ष !
37

An open letter to Anna Hajare Team and AAP Members

Dear Anna, I hope you are still thinking about betterment for India.The movement you started 2 years back was nothing less than a historical phenomena in Indian democracy. You compelled Indian youth to come on roads, you ignited a new flame in our hearts, you showed that we can also be revolutionary youth. You just gave us a hope that we can fulfill our dream of doing something for nation by supporting you.But all of sudden the very accused government ditched you and you surrendered. You just be...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Pritesh Dubey
Pritesh - Cut to Cut
58

खु़दकशी की ख़बर...

जब कभीअख़बार में पढ़ती हूंखु़दकशी की कोई ख़बरतोअकसर यह सोचने लगती हूंक्या कभी ऐसा होगामरने वाले अमुक की जगहमेरा नाम लिखा होगाऔर मौत की वजह नामालूम होगी...-फ़िरदौस ख़ान...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Firdaus Khan
Firdaus Diary
41

तेरा एहसान हैं बाबा !{Attitude of Gratitude}

तेरा एहसान हैं बाबा !{Attitude of Gratitude}आईये सोचिये ...पिछली बार आप कब किसी चीज के प्रति आभार व्यक्त किये थे ?क्या आप अपने जीवन की हर चीज ,हर अच्छी चीज के प्रति कृतज्ञ हैं ?अपनी चमचमाती गाडी या साईकिल,अपने शा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ajay kumar
"मन की बातें"
223

अहंकार के कारण नहीं सुलझ पाती हैं आपकी उलझनें

अहंकार सलाह लेने से डरता है। अहंकार अपनी उलझन खुद ही सुलझा लेना चाहता है। यह भी स्वीकार करने में कि मैं उलझा हूं, अहंकार को चोट लगती है। अहंकार गुरु के पास इसीलिए नहीं जा सकता है। और मजा यह है कि ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
83

एंटी रोड रेज एंथम: गुस्सा छोड़

नई दिल्ली: शोभना वेलफेयर सोसाइटी रजि. के तत्वाधान में दिल्ली एंथम और दामिनी एंथम के लेखक गीतकार सुमित प्रताप सिंह ने भारत के 67 वें स्वतंत्रता दिवस पर रोड रेज को छोड़ने का आग्रह करते हुए अपना ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
विनोद पाराशर Vinod Parashar
दिल्ली ब्लागर्स एसोशिएशन DELHI BLOGGERS ASSOCIATION
99

Hindu-Vedic Culture of Ancient Indonesia - इण्डोनेशिया की प्राचीन हिन्दू संस्कृति

७वीं - ८वीं सदी तक इण्डोनेशिया में पूर्णतया हिन्दू-वैदिक संस्कृति ही विद्यमान थी इसके आज भी अनेकों प्रमाण मिल रहे है तथा कई तो निर्भय होकर मूरत रूप में खड़े हैनिम्न जानकारी लाल कृष्ण आडवाणी ज...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Praveen Gupta
हिन्दू - हिंदी - हिन्दुस्थान - HINDU-HINDI-HINDUSTHAN
179


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन