अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

"अमर भारती साप्ताहिक पहेली-102" (त्रीमती अमर भारती)

अमर भारती साप्ताहिक पहेली केसभी पाठकों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ!नववर्ष मेंपहेली का सिलसिला फिर से शुरू!अमर भारती साप्ताहिक पहेली-102में आप सबका स्वागत है!निम्न चित्र को पहचानिए!और ब...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
3

क्या हमें मिल पायेंगे भगवान ???

...गतांक... से आगे...टारगेट २२३५प्रकाशातीत गति की खोज हमारे लिये बहुत बड़ी खोज थी... अब जाकर लगने लगा था कि शायद हम बृह्मान्ड के उन हिस्सों तक पहुँच सकेंगे जहाँ जाने की हम सोच भी नहीं सकते थे...मानव जा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
प्रवीण शाह
28
Copy & Pest
97
Copy & Pest
78

पंथ निहारे रखना

पंथ निहारे रखना छोड़ दो ताने बाने भूल के राग पुराने प्रेम सुधा की सरिता आ जाओ बरसाने प्रियतम दूर कहाँ होकिस वन, प्रांतर में  सौ प्रश्न उमड़ रहे हैं उद्वेलित मेरे अंतर में जीवन एक नदी है जिसमे ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
निहार रंजन
बातें अपने दिल की
72

राहुल-सोनिया! आप क्यों रोए-रुलाए...खुशदीप

जो हमने दास्तां अपनी सुनाई, तो आप क्यूं रोए?गाना पुराना है...लेकिन जयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर में इतवार को जो कुछ हुआ, उस पर सटीक बैठता है...राहुल जयपुर में जज़्बाती होकर बोले...कांग्रेस उप...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

शहीद का बेटा है राहुल ! .राहुल के ज़ज्बे को सलाम !

  शहीद का बेटा है राहुल ! .राहुल के ज़ज्बे को सलाम !भाजपा के वरिष्ठ नेता व् राज्य सभा में विपक्ष के नेता श्री अरुण जेटली ने श्री राहुल गाँधी को  कॉंग्रेस पार्टी उपाध्यक्ष बनाये जाने को ''व...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
(विचारों का चबूतरा )
70

बाल विवाह : एक नयी विचारधारा

मैने बाल विवाह पर काफी सारे लेख पढ़े हैँ।जैसा कि हमारे संविधान मेँ है कि बाल विवाह एक कानूनन अपराध है, कुछ मायनोँ मेँ सही साबित होता है।भारत गाँवोँ मेँ बसता है जहाँ आज भी बाल विवाह होना आम बात है...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dharm Raj Sharma
Dharm Raj Sharma
30

हिन्दु-वाद-आतंक, शब्द लगते हैं मारक-

बोल अब तो-बा-शिंदे-रविकर बाशिंदे अतिशय सरल, धरम-करम से काम  ।सरल हृदय अपना बना,  देखे उनमें राम । देखे उनमें राम, नम्रता नहीं दीनता ।दीन धर्म ईमान, किसी का नहीं छीनता ।पाले हिन्दुस्थान, &n...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
रविकर-पुंज
56

मैं भारत हूँ

प्रस्तुत कविता में श्रीमद्भागवत गीता में प्रतिपादित योग एवं स्थितप्रज्ञता के सिद्धांत को भारत देश के मानवीकरण के द्वारा प्रस्तुत करने का प्रयास किया है, उम्मीद है आपको पसंद आएगी.    &nbs...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
KAVYASUDHA (काव्य सुधा)
KAVYA SUDHA (काव्य सुधा)
56

तुम्हारे जाने का अहसास......स्मृति जोशा "फाल्गुनी"

सिर्फ, एक छोटा-सा पलतुम्हें लेकर आया मुझ तक,और जैसे मैंने जी लिया एक पूरा युग।.....उस एक संक्षिप्त पल मेंगुजरी मुझ पर एक साथभीनी हवाओं की नरम थपकियाँबरसीं मीठी शीतल सावन बूँदेंबिखरी कच्ची टेसू प...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
64

उर्दू बह्र पर एक बातचीत-5 [बह्र-ए-रजज़]

उर्दू बह्र पर एक बातचीत -5बह्र-ए-रजज़ [ 2 2 1 2 ][Disclaimer clause : -वही -[भाग -1 का][ अब तक ’बह्र-ए-मुतक़ारिब’, बह्र-ए-मुत्दारिक, बह्र-ए-हज़ज और बह्र-ए-रमल पर बातचीत कर चुका हूं और बात स्पष्ट करने के लिए उन की कुछ मिसालें भ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
आनन्द पाठक
उर्दू से हिंदी
67

रचनाकार: गरिमा जोशी पंत की कविता - तू और मैं

रचनाकार: गरिमा जोशी पंत की कविता - तू और मैंहम लाख छुपाएंपारखी समझ गएहममें हव्वा कौन मैं या तूहममें आदम कौनतू या मैं।आगे पढ़ें: रचनाकार: गरिमा जोशी पंत की कविता - तू और मैं http://www.rachanakar.org/2013/01/blog-post_...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
बृजेश नीरज
58

हम हिंदी चिट्ठाकार हैं

हम हिंदी चिट्ठाकार हैं      हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैंहम खुद अपनी सरकार  हैं  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं !सच लिखने से घबराते नहीं ,राज़  किसी का छिपाते नहीं ,...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
(विचारों का चबूतरा )
59

!!! हिमालय !!!

खड़ा हिमालय बता रहा है,डरो न आँधी पानी में ।खड़े रहो सब अपने पथ पर,सब संकट तूफानी में ।।डिगो न अपने प्रण से तुम,सब कुछ पा सकते हो प्यारे ।तुम भी ऊंचे उठ सकते हो,छू  सकते हो नभ के तारे ।।अटल रहा जो ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rishikesh Meena
Rishikesh Meena
89

काली बातें

काली बातें रात है निस्तब्ध और मैं अकेला चला जा रहा हूँना कोई मंजिल है और न वजह बस चलना है इसलिए चलता हूँ रात गहरी है, हैं घने घन और उनका डरावना स्तननलेकिन  मुझे चलना है... भला मिटटी से दूर कहाँ तक,...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
निहार रंजन
बातें अपने दिल की
80

' कुल का क्राउन '- डेरा सच्चा सौदा के इतिहास में एक और अभियान

 Daily Majlis Saturday, January 19, 2013' कुल का क्राउन '- डेरा सच्चा सौदा के इतिहास में एक और अभियान बेटो से वंश चलने की बात कहने वाले समाज में नयी सोच जागृत करने के उद्देश्य से डेरा  सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत ग...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
WORLD's WOMAN BLOGGERS ASSOCIATION
68

बुराई की जड़ -- डा श्याम गुप्त की कविता

प्रत्येक बुराई की जड़ है,अति सुखाभिलाषा ;जो ढूंढ ही लेती हैअर्थशास्त्र की नई परिभाषा;ढूंढ ही लेती हैअर्थ शास्त्रं के नए आयाम ,और धन आगम-व्यय केनए नए व्यायाम |और प्रारम्भ होता हैएक दुश्चक्र, एक ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
एक ब्लॉग सबका
85

अब चिंतन दरबार, बिलौटे खातिर चिंतित -

मिली मुबारकवाद मकु, मणि शंकर अय्यार ।शिंदे फर्द-बयान से, जाते पलटी मार ।जाते पलटी मार , भतीजा होता है खुश।नकारात्मक वार, कभी हो जाता दुर्धुष । हिन्दु-वाद-आतंक, शब्द लगते हैं मारक ।हर...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
रविकर की कुण्डलियाँ
47

एड्स चालीसा

एड्स चालीसादोहा:- महाशाप  अवगुण सदा, एड्स  रोग  भयवान।पकड़ मौत निश्चित करें, नहि जिससे कल्याण।।सतोगुणी नर  की  जयकारा। निन्दउ पतिव्रत  हीन  अचारा।।निज  पत्नी नहि रास रचैया। निन्द...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
M.P. Pandey 'Nand'
नन्दानन्द (NANDANAND)
57

रेप का महान कुम्भ

काफी दिनों से  मौन था कविताओं की दुनियां से गौण था ।अचानक हस्क्षतेप हुआ सुनने में आया की रेप हुआ ।बात फ़ैल गई चारो ऒर सजा दिलाओ यही था शोर। आओ सूली चढ़ा देते है सरेआम उसे जला देते है ।...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kshitij Ranjan
क्षितिज
70

कई ब्लोगर्स भी फंस सकते हैं मानहानि में .......

Smriti Irani sends legal notice to Sanjay Nirupam over 'slur' on TV, BJP to boycott himकई ब्लोगर्स भी फंस सकते हैं मानहानि  में .......कांग्रेस सांसद संजय निरुपम  द्वारा भाजपा युवा नेत्री स्मृति ईरानी को असभ्य टिप्पणी को लेकर ईरानी ने उन्हें मा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHALINI KAUSHIK
कानूनी ज्ञान
64


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन