अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

शब्द से ख़ामोशी तक ...अनकहा 'मन' का -1

ख़ामोशी में बहुत कुछ है अब ...सुनने को ....वो भी जो तब नहीं सुन पाई थी .....जब शब्द बात करते थे ....अब चारों पहर बस ख़ामोशी ही गुनगुनाती है हमारे बीच ...और राह तकते शब्द थक कर सो जाते हैं गहरी नींद ......!!(शब्दों ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सु-मन (Suman Kapoor)
बावरा मन
43
चुटकुले और हंसगुल्ले (कुछ हल्के-फुल्के पल...)
521

पिया तोरा कैसा अभिमान ?

पिछले दिनों ट्रेन के सफ़र के दौरान इक सज्जन से बातचीत हो रही थी । उन्होंने बताया कि , वे उम्र का लंबा सफ़र अकेले ही काट रहे हैं । पेशे से वो लेखक थे तो बात निकल पड़ी । उनकी शिकायत थी , प्रेम सम्बन...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
mamta vyas
मनवा
72

जीवन का अस्तित्व-एक विचार

जीवन का अस्तित्व-एक विचार पानी की बूंद की उत्पत्ति का रहस्य भी अजीब है | मैंने बहुत  सोचा, परन्तु समझ न सका , कहाँ से आया और इसका क्या हश्र होगा? खैर ! बूंद, जिसकी शायद नियति ही थी उसकी  उत्पत...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
राकेश श्रीवास्तव
73

किसान और सांप (काव्य-कथा)

अपने बंज़र खेत देख कर एक किसान दुखी होता था.पूरी मेहनत करने पर भी, कुछ भी न पैदा होता था.अपने खेत में उस किसान ने एक दिन सांप की बांबी देखी.नागराज को यदि खुश कर दूं,शायद किस्मत जग जायेगी.एक ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kailash Sharma
बच्चों का कोना
119

"लौ "

झंझाबात से  जिन हाथों ने "लौ " को घेरकर बुझने से बचाया था'लौ ' बुझाने का दोष लगाकर ,"लौ " ने ही हाथ को  जला दिया।हवा का हर झोंका आता है "लौ " को बुझाने के लिए , पर "लौ " की हिम्मत देखोवह  हिलता है ,ड...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kalipad
अनुभूति
103

Amazing photos

if (WIDGETBOX) WIDGETBOX.renderWidget('cbd9932a-3f2f-45ae-b704-72955f7719c9');Get the HTML Scrolling Text widget and many other great free widgets at Widgetbox! Not seeing a widget? (More info)...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

No Title

यादों की फाँस                         छीन ले गई              मन का सारा चैन              उसकी याद                ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Sarika Mukesh
अंतर्मन की लहरें Antarman Ki Lehren
54

सिंघा

5 वर्ष पूर्व
Imran Ansari
जज़्बात...दिल से दिल तक
43

“विविध-भारती”

      अगर आपके पास रेडियो नहीं है, तो मेरी सलाह है कि ले लीजिये; और अगर आपका रेडियो कहीं इधर-उधर पड़ा है, तो उसे झाड़-पोंछ कर ठीक करा लीजिये। इसके बाद शॉर्टवेव पर रेडियो की सूई को किसी तरह से “...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
जयदीप शेखर
कभी-कभार
130

अब ऐसे भ्रष्टाचार का क्या इलाज है?

इसके ऊपर तो भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम भी लागू नहीं हो सकता, न ही इसकी कहीं शिकायत हो सकती और अगर हो भी सकती होगी तो शायद ही कोई कार्रवाई सम्भव होगी.मामला यूँ है कि एक मशीन खराब हो गयी. मशीन वारन्...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
भारतीय नागरिक
भारतीय नागरिक-Indian Citizen
64

अविवाहित बेटी का भरण-पोषण अधिकार

अविवाहित बेटी का भरण-पोषण अधिकार दंड प्रक्रिया सहिंता १९७३ की धारा १२५ [१] के अनुसार ''यदि पर्याप्त साधनों वाला कोई व्यक्ति -...............................................................................................................................................[ग] -अपने धर...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHALINI KAUSHIK
कानूनी ज्ञान
57

नानी का गांव

   रांची से 55-60 km दूर एक छोटा सा गांव है जिसका नाम है- सुन्दारी.. ये मेरे नानी का गांव है.. अक्सर छुट्टीओं में मैं यहां पहुंच जाता हूं.. यहां का शांत व प्राकृतिक वातावरण मुझे बेहद पसंद आता है..   स...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Prashant Suhano
SUHANO DRISHTI
87

सीते मुझे साकेत विस्मृत क्यों नहीं होता !

सीते मुझे साकेत विस्मृत क्यों नहीं होता !सीते मुझे साकेत विस्मृत क्यों नहीं होता !क्षण क्षण ह्रदय उसके लिए है क्यों मेरा रोता !बिन तात के अनाथ हो गया मेरा साकेत ,अब कौन सुख की नींद होगा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
33

सहकारिता कल, आज और कल

कल्पना करें आज से पच्चीस हजार वर्ष पहले की, जब आदमी मुख्यतया शिकार पर ही जीवन यापन करता था जब जंगल में उससे कहीं अधिक सशक्त जानवरों का राज्य था, तब यह दुर्बल सा प्राणी बिना हथियारों के मात्र लाठ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Krishan Vrihaspati
Bhoomeet | Hindi Rural Magazine | Agriculture Magazine |Farmers Magazine|Indian Magazine
90

खून का रिश्ता (तीसरा अंतिम भाग)

''चलो, ये तो समझ लिया कि नन्द वंश तुम्हारे रूप में मौजूद है। लेकिन यह वंश पूरी दुनिया में फैल जायेगा यह कैसे संभव होगा?" राशि ने पूछा। ''इसकी शुरूआत हो चुकी है। और इस तरह का पहला नंद वंशज बना है तु...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dr. Zeashan Zaidi
Hindi Science Fiction हिंदी साइंस फिक्शन
69

सियासत की नीयत में खोट

वर्तमान में देश का जो भी राजनीतिक परिदृश्य दिख रहा है वो शायद भारतीय राजनीति में भ्रष्टाचार , भाई भतीजावाद , परिवारवाद , और नैतिकता के पत्तन का चरम है । इससे पहले बेशक कई बार इस तरह होता दिखा है ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
अजय कुमार झा
कुछ भी...कभी भी..
94
THE MUSIC OF MY LIFE : मेरे जीवन का संगीत
127

RELATIONSHIP

5 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
HRUDAYAM :: ह्रदयम
56
THE INNER JOURNEY ::: अंतर्यात्रा
62

हम सब का मंच एक मंच

हम सब हिंदी भाशियों के लिये एक मंच। सबसक्राइब करें केवल अपना आवेदन ekmanch-subscribe@yahoogroups.com इस ईमेल पर भेजें। आप तुरंत इस मंच से जुड़ जायेंगे। यह मंच मैंने निम्न उदेश्य के साथ बनाया है।1 इस मंच पर हम सबएक ह...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
kuldeep thakur
man ka manthan. मन का मंथन।
62

YOU....!

My Dear Souls ; You are very important . not only to other , but to yourself too. The world needs a better person like you . so instead of changing the world , if  we change to ourselves , the world will become a great place for our kids and grandchildren, after all this is the only place we are leaving for them. lets make it more beautiful  by  making a better " YOU " . GOD Bless you. Much Love and Light and hugs !Vijay ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
HRUDAYAM :: ह्रदयम
46

Photo Galary

 Here I am find some of the photos of Kangra Valley, with these photos you can see the some of the tourism places in Kangra Himachal Pradesh. You can also see some of others pictures here like Folk dance pictures which shows the culture of Kangra Himachal Pradesh, Religious places snaps, as well some of other places. You really enjoy these pictures.Folk Dance:-Folk dance is famous in Kangra Himachal Pradesh which shows the culture of Kangra. Jhamakada is a group dance performed in Kangra. T...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Manu
Kangra Valley
384

सत्ता का सोपान बनी सहकारिता

माना जाता है कि सहकारिता देश में सदियों से चली आ रही संयुक्त परिवार प्रणाली के सिद्धातों पर आधारित है। चाहे वर्तमान में सहकारिता की नींव रहे संयुक्त परिवार न रहे हों पर सहकारिता अभी जिन्दा ह...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Krishan Vrihaspati
Bhoomeet | Hindi Rural Magazine | Agriculture Magazine |Farmers Magazine|Indian Magazine
107

सुर क्षेत्र से रण क्षेत्र तक

               सुर क्षेत्र से रण क्षेत्र तकहमने कभी सुरों को सरहदों की सीमाओं में नहीं बांधा । हमने तो संगीत को फिजाओं में घोल दिया हैं । अगर कोई हमारी आवाज से आवाज मिलाना चाह...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
तरूण कुमार, सावन
सावन का सफर
86

"बुद्धि के प्रकार" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

बुद्धि तीन प्रकार की होती है-१- रबड़ बुद्धि२- चमड़ा बुद्धि३- तेलिया बुद्धि--विचार कीजिए आप कौनसी बुद्धि के स्वामी हैं?      रबड़ बुद्धि रबड़ की तरह होती है। उदाहरण के लिए आप रबड़ में एक सूई से ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
100

काश लौट आए वो माधुर्य. (ध्वनि तरंगों पर ..)

बोर हो गए लिखते पढ़तेआओ कर लें अब कुछ बातेंकुछ देश की, कुछ विदेश कीहलकी फुलकी सी मुलाकातें।जो आ जाये पसंद आपकोतो बजा देना कुछ तालीपसंद न आये तो भी भैयान देना कृपया तुम गाली।एक इशारा भर ही होग...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Shikha varshney
स्पंदन SPANDAN
47

खून का रिश्ता (भाग-2)

कुछ देर बाद राशि व पंकज दीपक कुमार की बतायी जगह पर पहुंच चुके थे और हैरानी से इधर उधर देख रहे थे। ''आखिर दीपक कुमार ने इस पुराने टूटे फूटे किले में क्यों बुलाया है? क्या एक्सीडेंट ने उसके दिमा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dr. Zeashan Zaidi
Hindi Science Fiction हिंदी साइंस फिक्शन
60

सृष्टि महाकाव्य(क्रमश)---तृतीय सर्ग सद-नासद खंड --डा श्याम गुप्त

सृष्टि महाकाव्य-(ईषत इच्छा या बिगबेंग--एक अनुत्तरित उत्तर --डा श्याम गुप्त         सृष्टि - अगीत महाकाव्य--(यह महाकाव्य अगीत विधामें आधुनिक विज्ञान ,दर्शन व वैदिकविज्ञान के समन्वयात...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Drshyam
अगीतायन
85

ग़ज़ल

चेहरे की हकीक़त  को समझ जाओ तो अच्छा है तन्हाई के आलम में ये अक्सर बदल जाता हैमिली दौलत ,मिली शोहरत,मिला है मान उसको क्यों मौका जानकर अपनी जो बात बदल जाता है क्या बताये आपको हम अपने  दिल की दास...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Madan mohan saxena
ग़ज़ल गंगा
57


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन