अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

ग्यारह सितम्बर के बाद

X;kjg flrEcj ds ckn                                                                                 ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
anwar suhail
गुमशुदा चेहरे / gumshuda-chehre
139

7 वर्ष पूर्व
Dr.Radhika Budhkar
आरोही
31

सत्यार्थ प्रकाशः प्रथम समुल्लास अंक-3

सत्यार्थ प्रकाशः प्रथम समुल्लास अंक-3चौथा अंक कल देखिए-...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
61

होली फाग ( मन प्रीति बढा प्रभुचरणन से )- HOLI FAAG, KAVI AART

होली फाग ( मन प्रीति बढा प्रभुचरणन से )मन प्रीति बढा प्रभुचरणन से कलि दारूण क्‍लेश कटेंगे विषाद मिटेंगे   ।।नित उठि राम भजन कर प्‍यारे, कृष्‍ण कथा में तूँ मनवा लगा  रे  ममता मेघ छँटेंगे  ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
90

होली फाग ( अधरन पर मुरली मधुर धरिकै )- HOLI FAAG- KAVI AART

होली फाग ( अधरन पर मुरली मधुर धरिकै )अधरन पर मुरली मधुर धरिकै,  टेरत मृदुतान मुरारी गोवर्धन धारी  ।।रवि तनया तट तरू कदम्‍ब तर, ठाढे त्रिभंगी लाल मुरली धर राकापति उजियारी  ।।मधुर तान तन राग ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
88

होली मतवाला ( हरि कँ बिसराय )- KAVI AART

होली मतवाला ( हरि कँ बिसराय )हरि कँ बिसराय , काहें फिरे तूँ भुलाना  ।।सुन्‍दर देहियाँ से नेहिया लगाया डहँकि डहँकि धन सम्‍पति कमाया तबहूँ न कबहुँ सुखी होई पाया , भूल्‍या तूँ कौल पुराना कोई साथ न...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
82

होली मतवाला - HOLI FAAG, KAVI AART

होली मतवाला ( मन से प्रभू का भजन करना )मन से प्रभू का भजन करना देखो न दामन मे दाग लग जाये , गन्‍दी डगर न कदम धरना ।।काल गहे कर्मों का लेखा  , जैसा करे फल वैसा ही देखा’आर्त’ मगन मन प्रभू गुन गाये , भव ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
88

Bijasan Mandir बिजासन माता का मंदिर

इंदौर में माता के मंदिरों में बिजासन माता का मंदिर का अपना अलग महत्व है यह इंदौर एयरपोर्ट के पास स्थित है यहाँ वैष्णो देवी कि मूर्तियों के समान पत्थर कि मुर्तिया है यह मूर्तिया कब से यहाँ है इ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
My Indore City [ इंदौर शहर ]
232

होली का सच्‍चा आनन्‍द तो गाँव के इन्‍ही गीतों में है ।

            होली के पावन पर्व का यूँ तो अपना अलग ही मजा है  ।  प्राय: हर गाँव हर शहर में होली की धूम देखती ही बनती है किन्‍तु फिर भी कवि 'आर्त' के गाँव ईशपुर की बात ही कुछ और है  ।यह...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
89

होली की बधाई ! पर, देश को याद रखना !

    होलीचलीगई, औरहंसीखुसीचलीगई, नतोकोईदंगाहुआनकोईफसाद. चलोअछाहुआपर होली केपहलेकुछऐसाहुआजोलोगोकोदर्दहीनहींबल्किकुछसोचनेकीनईवजहभीदेगया, सवाईमाधोपुरमेंहुईघटनानेपुरेप्रशास...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
70

सत्यार्थ प्रकाश-प्रथम समुल्लासःअंक-2

सत्यार्थ प्रकाश पढ़ने वाले सभी पाठकों को मेरा अभिवादन!मित्रों!कल आपने सत्यार्थ प्रकाश की भूमिका पढ़ी थी!आज पढ़िए, इसके प्रथम समुल्लास का कुछ अंश!आगे का भाग कल पढ़िए-...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
143

"सत्यार्थ प्रकाश की भूमिका"

मित्रों!लगभग 50 वर्ष पूर्व मैं गुरूकुल महाविद्यालय, ज्वालापुर (हरिद्वार) में पढ़ने के लिए गया था मेरा वेदारम्भ-संस्कार सन् 1960 में हआ था। तभी मुझे प्रतिदिन अनुशीलन करने के लिए मेरे मामा जी स्व.रा...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
107

Colours of LIFE ....!!!

7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
MY PHOTOGRAPHIC ROMANCE
86

Special Effects by GOD .........!!!!

7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
MY PHOTOGRAPHIC ROMANCE
81

"उस होली की याद अभी भी ताजा है" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

उस होली की याद अभी भी ताजा है!लगभग 37 साल पुरानी बात है। उस समय मेरी नई-नई शादी हुई थी! पहली होली ससुराल में मनानी थी। इसलिए मैं और मेरी श्रीमती जी होली के एक दिन पहले ही रुड़की पहुँच गए थे।उस समय म...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
66

Follow by email

एक नया Feature  ब्लॉगर में जोड़ा गया है क्या आपने देखा है हम अब तक फीडबर्नर का Subscription का विडगेट लगाते थे पर अब उसे लगाने की जरुरत नहीं होगी हम यह नया विजट लगाकर भी ईमेल से सबस्क्राइब कर सकते हैव इसके द्...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
106
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
107

हाय! वासना क्या कहना !

एक रोटी का टुकड़ा जब इज्जत के वदले प़ता हैसच पूछो कि दोस्त मेरे, मुझे एक नया साल दिख जाता हैएक दशक मे कितने वदले ,नर नग्न पुरुष नाना वदले इस नग्न संस्कृति की खातिर, जब कानून नया लिख जाता है ..... सच प...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
बुंदेलखंड
बुन्देली साहित्य कला आकादमी
79

Make a folder without Name

जब भी हम कोइ नया फोल्डर बनाते है तो उसका डिफाल्ट नाम New Folder रहता है हम उसे कोई और नाम भी दे सकते है पर अगर आप चाहे तो बिना नाम का फोल्डर भी बना सकते है जी हा बिना नाम का फोल्डर | बेनाम फोल्डर बनाए के लि...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
95

"श्रीमद्भागवद्गीता से ..............."

श्रीमद्भागवद्गीता के सातवें अध्याय के २१ वें श्लोक में भगवान प्रत्येक देवता के प्रति श्रद्धा का बखान कर रहे हैं। स्वामी रामसुखदास जी ने इसकी बहुत ही सुंदर व्याख्या की है ।श्लोकजो- भक्त जिस -...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
68

हम क्यों झुके किसी के सामने ?

हम हमारे ईमान पर यदि सही है, यदि हम हमारे काम पर सही है, हम हमारे नाम पर यदि सही है,  यदि हम सभी जगह सही है और निर्दोष है, तो फिर हम क्यों किसी के सामने झुकें?झुकना जीवन की निसानी है, पर ज्यादा&...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
77

some new feature of Blogger

ब्लागिंग करना काफी लोगो को पसंद आता है और पिछले कुछ वर्षो में ब्लॉगर की संख्या काफी बढ़ गयी है इसी को ध्यान रखते हुए ब्लॉगर भी काफी नयी सुविधाए और इंटरफेस उपलब्ध करता रहता है | इसी को देखते हुए इ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
93

आदत

हर रोज़ सोने की आदत सी हो गयी है  आँखे  खुलीं है और रोने की आदत सी  हो गयी हैक्यों शोलो को भड़कने नहीं देते ...................... धुआँ तो उठते देखता हूँ पर  चिंगारी बुझाने की आदात सी हो गयी है  भले ही ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Kshitij Ranjan
क्षितिज
83

एक अधूरी बुनावट

                          सुनहरे ख्वाबों की रेशमी डोर हाथ से छूटी जाती है,                          उधर तुमने मुँह फेरा, इधर ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Ritika Rastogi
फुर्सत के पल..
85

जापान के साथ हमारी सहानुभूति है पर संभल जाओ !

जापान में भूकंप आया तो मेरे दोस्तों ने मुझे बताया की जापान तो बर्बाद हो गया है,   मैंने कारन पूछा  तो पता चला कि वहां पर भूकंप आया है. मैंने कहा कि इस भूकंप से जापान का कुछ नहीं बिगड़े...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
79

"अपना उत्तराखण्ड" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

9  नवम्बर सन् 2000 को   भारत के 27वें राज्य के रूप में उत्तराखण्ड राज्य की स्थापना हुई थी! उत्तराखण्ड राज्य का गठन   -   9 नवम्बर, 2000 कुल क्षेत्रफल                ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
73

नश्वरता

पर्वतों की ऊंचाइयों मेंकहीं खोकर रह जाएगासागर की गहराइयों में दफन होकर रह जाएगाउन्मुक्त आंचल का विस्तार कभी तूफान समेट लेंगेकभी तपते सूरज मेंयह अस्तित्व पिघल जाएगाकितना कुछ भी आर्जि...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Varsha Thakur
तमसो मा ज्योतिर्गमयः
59

बिन्‍दु जी के दुर्लभ भजन ।।

यह कवि श्री गोस्‍वामी बिन्‍दु जी के दुर्लभ भजनों में से एक है जिसे कवि श्री आर्त ने गाया है  ।सुनिये और आनन्‍द लीजिये  ।।...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
242


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन