अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

ट्रेन टु गांव

(मेरी गांव यात्रा)शहर में मन ऊब चला, तो गांव चला गया। सोचा, चलो फ्रेश हो लेंगे। (कभी-कभी गांवों की यही उपयोगिता महसूस होती है। क्योंकि गांवों में भी अब पहले जैसा कुछ नहीं रहा। लेकिन गांव फिर भी गा...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
64

Copying Media Files - Unity

Sorry for the long hiatus everyone. Work, work, work, work...you know the drill.Just getting through dailies on a show and was told about an interesting bug when copying over media files into your Unity. Basically, if you copy your media to one of your Unity partitions, make sure you keep the user folder that Unity has with in the OMFI MediaFiles folder closed when you copy them over. If you open the Unity User folder (ex. ZJustin), and do the copying, you run the risk of a file of the media ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
21

कल रात आपने क्या देखा?

मैं रात्रि में अस्पताल में भर्ती एक रिश्तेदार के पास था। लेकिन मैच का ताजा स्कोर जानने की प्रबल उत्कंठा का शिकार था। मेरा बीमार रिश्तेदार ब्रेन हैमरेज के बावजूद एक लम्बी चैन की नींद में था, ले...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
64

No Title

फ़िरदौस ख़ानयुवा पत्रकार, शायरा और कहानीकार... उर्दू, हिन्दी और पंजाबी में लेखन. उर्दू, हिन्दी, पंजाबी, गुजराती, इंग्लिश और अरबी भाषा का ज्ञान... दूरदर्शन केन्द्र और देश के प्रतिष्ठित समाचार-पत्रो...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Firdaus Khan
ਹੀਰ
99

कुछ मन के ख्याल...

कितनी लगन से उसने जी होगी जिंदगीयूँ ही नहीं हँसते हुये यहाँ दम निकलता हैइबादतें, वो बड़ी बेमिसाल होतीं हैंइंसान जब भगवान से आगे निकलता हैजिंदगी में हार को तुम मात न समझोइंसान ही तो यारों गिरकर ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
83

धर्म भी आहत है...

कर्तव्य से बड़कर जहाँ पद हैयह मान नहीं मान का मद हैजहाँ खुलती नहीं वक्त से गाँठेंघर नहीं वो तो बस छत हैकौन फ़िर लगाये वहाँ मरहमदृड़ जो सबके यहाँ मत हैंदिल दुखाये जो अगर वाणीमान लो झूठ जो अगर सच हैक...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
78

क्रिकेट में ड्रामा, ड्रामे की क्रिकेट

इसमें एक्शन है। ड्रामा है। सितारे हैं। राजनीति है। बिल्लो रानी का डांस है।...और क्रिकेट भी है। आईपीएल का तमाशा है ही ऐसा। आदमी क्रिकेट से बोर नहीं हो सकता। बोर होगा, तो बिल्लो रानी को देखने लगेग...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
72

महंगाई के साथ बयानबाजी के कुछ प्रयोग

लोकसभा में महंगाई पर बयानबाजी जारी है। बयान ही बयान। कुछ धांसू। कुछ फांसू। कुछ इमोशंस से भरे फिल्मी डायलॉगनुमा। सुनकर आंखों में आ जाएं आंसू। तो कुछ शर्मसार कर देने वाले भी। लेकिन नेता सुबह स...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
63

...गर मनमोहनजी सब्जी बेचने निकलें?

आजकल कई उलटबांसियां सी हो रही हैं। कई बांस उलटे बरेली को हैं। कहां शाहरुख खान करोड़ों कमाने के चक्कर में क्रिकेट के चक्कर में फंस बैठे। उनके आईपीएल के टिकट नहीं बिक रहे। कोलकाता टीम के टिकट बे...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
63

३ क्षणिकायें...

जीवन कठिन डगर हैजो साँसें नहीं हैं गहरीकैसे प्रभु मिलेगेंमन जो रहेगा लहरी~~~~~~~~~~मैनें धर्म को अधर्म के साथचुपचाप खड़े देखा हैमैं अधर्म की अट्टाहस से नहींधर्म की खामोशी से हैरान हूँ~~~~~~~~~~जहाँ छोड़ ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
84

नजरें जो घड़ियाल हो गई हैं...

सरकार चुनावों का गणित बिठाने में व्यस्त है। महंगाई बेशुमार बढोतरी पर है, पर सरकार को न जगाइए। वह अभी चुनाव जीतने का दिवास्वपन देख रही है। क्योंकि उसने किसानों का कर्जा माफ कर दिया है। बजट लोक ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
63

लोग...

तेरी इस दुनियाँ में प्रभु जीरंग-बिरंगे मौसम इतनेक्यों फ़िर सूखे-फ़ीके लोगथोड़ा खुद हँसने की खातिरकितना रोज रुलाते लोगबोतल पर बोतल खुलती यहाँरहते फ़िर भी प्यासे लोगपर ऎसे ही घोर तिमिर मेंमेधा ज...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
92

रौशनी और अंधकार...

मैनें देखा है रौशनी कोहाथों में अंधकार लियेअंधकार से लड़ते हुयेनिरंतर चल रहेइस संघर्ष मेंरौशनी को थकते हुएअंत में नहीं रही रौशनीहमारे बीचअंधकार आज भीवैसा ही खड़ा है~~~~~~~~~~~~~~~~~मैनें देखा है रौशनी...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
79

तुम्हारी याद

तुम्हारी यादतुम्हारी याद आते आते कहीं उलझ जाती है,जैसे चाँद बिल्डिंगों में अंटक गया हो कहीं,मेरे रास्ते तनहा तय होते हैं,सपाट रोड और उजाड़ आसमान के बीच.कुहासों की कुनकुनाहट,भौंकते कुत्ते सुन...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
AJANTA SHARMA
अजन्ता शर्मा
61

गायब होने का उम्दा भारतीय कौशल

लो, जी आदमी गायब हो सकेगा। साइंस ने ऐसी तरकीब खोज कर ली है। अमरीका आदि देशों ने यह खोज की है। वैसे इसमें नई खोज क्या हुई। इंडिया में यह तरकीब बहुत पहले से चालू है। साइंस की मदद से गायब आदमी कुछ दे...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
65

महंगाईबाजी बनाम कमेटीबाजी

एक अप्रेल को खबर आई कि सरकार महंगाई पर लगाम कसेगी। यह संशय भरी खबर थी। यह वैसी ही घोषणा थी, जैसी अक्सर सरकारों की हुआ करती हैं। लोगों ने इसलिए भी भरोसा कम किया कि कहीं वे अप्रेल फूल न बन जाएं। लेक...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
67

कौन है यह मल्लिका साराभाई?

कौन है यह मल्लिका साराभाई?पता नहीं।तूने नाम सुना है पहले।नहीं तो...तुमने?मैंने भी नहीं सुना।फिर?फिर क्या?(सवाल यह था कि फिर क्यों छापा जा रहा है।)खैर, सहवाग ने कितने बना लिए?तिहरा शतक ठोक दिया।प...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
surjeet singh
ख़राशें
72

मेरी होली

मेरी होलीये फागुनी नशा है औ बसन्ती है जादूमेरी आँखें बिन भंग लाल-लाल हो गईंसाजन ने बाहों में भर के रंग डालाअबके होली में मैं मालामाल हो गई ।मुझ-हीं से लेके रंग, मुझ-हीं को लगाएहै तू रंग मेरा जो र...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
AJANTA SHARMA
अजन्ता शर्मा
59

प्राण...

आँसू यह अब झरता नहींकिसी को चुप करता नहींबस गाँठों पर गाँठेंयहाँ कसता है आदमीएक पल में प्राण गयेतो मुर्दा है आदमीकहता है तो रूकता नहींखुद की भी यह सुनता नहींबस छोड़कर यहाँ खुदकोसब जानता है आद...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
93

दूर तक है बहना...

अभिव्यक्ति से बढ़कर रखी थीअव्यक्त से आशाइंसानियत को मानकरसही धर्म की परिभाषाउसने पहलेजितना सहा जा सकता थाउतना सहाफ़िरजितना कहा जा सकता थाउतना कहापर धीरे-धीरे उसने जानागर अकेले चल पड़ातो भी म...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
99

कर्मयोग, ज्ञानयोग और भक्तियोग...

हे केशव तुमने ज्ञान,कर्म और भक्तियोग समझाकरअर्जुन का विषाद हर लिया थापर इस कलयुग मेंतुम्हारी कोई जरूरत नहींनिज स्वार्थ में डूबे पार्थों कोयहाँ कोई विषाद नहींइस युग में तुम्हारा कर्मयोगअब ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
90

Avid data entry tip

Are you sick and tired of Cmd-V, pasting your way down a entire bin of takes where you want the same information applied to all the takes you have selected? I.E. date shot. Of course you could export the bin, open it in a spreadsheet and do a fill down command, re-import the bin, but who wants to deal with that?My friends, our time has arrived.I received this info from a Avid engineer who saw me doing this and said "we fixed that."I'm not sure which version the fix came in on, but I am working o...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
22

Production Sound

It happens often. You cut to the best performance of a character, and another character steps on the line. Picture departments often will find an alternate reading to "clean up" the area were the overlap of lines happen. However, it is still important that sound editorial has access to the original line reading.So what you do in these situations is keep the original production in one of your tracks, but bring it down to zero (infinity on the audio mix tool). That way, you get your clean line...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
21

Commenting

Information is my friend, so I am always looking at things and trying to find new ways to organize that info or refine existing info.So, in the AVID, they give you the standard array of columns, which is growing by leaps and bounds, but not always the way I want or need.Add a few new columns and name them:Comments_PixComments_SndComments_MxComments_VFXComments_DIComments_Whatever...When you export to a codebook, your comments are broken out by category making it really easy to do a search for so...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
21

Bin possession

There are times when multiple people might want to open a bin without taking ownership possession of that bin.As the assistant, I might need to grab a sequence out of a bin, which my editor goes into frequently, but if I have it open and he wants to get into the bin it is locked to him as a user.The way around it is to hold down the option key on Mac [Alt on PC] while you open the bin from the project window. This will open it for you with a red lock, but it is available for ownership by the oth...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
22

धन्य है जिदंगी यह हमारी...

गायत्री परिवार का यह सुंदर भजन मुझे बहुत प्रिय है । आप भी इसे नीचे दी गई लिंक पर सुन सकतें हैं । लिंक पर जाकर गाने पर क्लिक करें । साथ में नीचे भजन के बोल भी दिये गये हैं । धन्यवाद...http://multimedia.awgp.org/?mission_visio...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
मेरी पसंद...
102

तुम बेसहरा हो तो...

मुझे फ़िल्म अनुरोध का गाना "तुम बेसहारा हो तो..." बहुत पसंद है । आप इस गाने को नीचे दी गई लिकं से सुन सकते हैं । लिंक पर जाकर गीत select करके play बटन पर click करें । साथ में गाने के बोल भी दिये गये हैं ।http://www.youtube.com/wa...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
मेरी पसंद...
90

एक और दिन चला गया यूँ ही...

रात हो चुकी थीदिन भर के थके पंछीसंतुष्ट एवं आनंदमग्नचहचहा रहे थे अपने घोंसलों मेंपेड़-पोधे भी अपार संतोष लियेसो रहे थे गहरी नींद मेंवहीं दूसरी ओरइंसानों की बस्ती मेंछाई हुई थी गहरी उदासीसब स...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
91

नेता बनाम राजा...

बिन्देश्वरी दुबे शहर के बड़े लोकप्रिय नेता माने जाते थे । उनके कद का कोई दूजा नेता पूरे नगर में ना था । जनता उन्हें गरीबों का मसीहा मानती थी । कालेज में छात्रों के बीच उनकी बड़ी चर्चा हुआ करती थी ...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Reetesh Gupta
भावनायें...
90

Change Lists

The change list tool in the Avid is unmatched by other systems. But because it is, in the end, just a program, it is very important that the picture department makes sure these lists are streamlined and makes sense. The simple truth is that I have heard from numerous sound departments that they get change lists that are unreadable. This should never be the case and can easily be avoided:1) Know your sequences. And once you have set up your structure for picture and track, be careful not to s...  और पढ़ें
10 वर्ष पूर्व
Deepak Kashyap
Post Production Standards
21


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन