अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

बचपन

6 वर्ष पूर्व
बृजेश नीरज
Voice of Silent Majority
53

अनुवाद

ये एक विशेष लेख है जो कि बिना किसी कारण के अचानक ही ज्यों का त्यों छापा गया है मेरे जी-मेल खाते से। हुआ कुछ यूँ कि अभी लेख लिखने को बैठा तो दिमाग में आया की पहले मेल देख  लेते है। मेल देखने बै...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
सौरभ यादव / SAURABH YADAV
जमीन से ........
88

ठूंठ का जंगल

ठूंठ के जंगल में फूटता है जब कोई कपोल,परितप्त ह्रदय में,जगती है उम्मीद,एक कोना छांव की ..... नीरज कुमार ‘नीर’...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
KAVYASUDHA (काव्य सुधा)
KAVYA SUDHA (काव्य सुधा)
62

vivek singh dhakar

6 वर्ष पूर्व
vivek singh dhakar
9

vivek singh dhakar

6 वर्ष पूर्व
vivek singh dhakar
6

vivek singh dhakar

6 वर्ष पूर्व
vivek singh dhakar
5

vivek singh dhakar

maaaa
maaaa
6 वर्ष पूर्व
vivek singh dhakar
4

०५ ०५ २०१३ शिवसंदेश

05 05 2013 - Shivsandesh
Om Shanti


सर्व कर्मबंधनमुक्त ज्ञानस्वरूप , स्वमानस्वरूप सो स्वमानधारी सितारा
शमा का स्वदर्शन ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
nainapatel
1

nainapatel

6 वर्ष पूर्व
nainapatel
2

nainapatel

6 वर्ष पूर्व
nainapatel
0

मैथिली बाल कविता- भोरक दृश्य

बाल कविता-42:D भोरक दृश्य :Dउठलै सूरज बनि कऽ आगिक थारीपूब बनि गेल रक्तवदनक धारीकोढ़ी खुलल आ भेल मुक्त भ्रमर घास केलक मोती उगलैक तैयारीजागल विहग वंश, गबैया सुग्गासूतल उल्लू कऽ कड़गड़ रतिजग्गाबरदक म...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
49

‘‘मेरी पतंग बड़ी मतवाली’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

लाल और काले रंग वाली,मेरी पतंग बड़ी मतवाली।मैं जब विद्यालय से आता,खाना खा झट छत पर जाता। पतंग उड़ाना मुझको भाता,बड़े चाव से पेंच लड़ाता।पापा-मम्मी मुझे रोकते,बात-बात पर मुझे टोकते।लेक...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
73

आ जा प्यारे पास हमारे ..[प्यासा ]

प्यार का होवे झगडा या बिज़नेस का हो रगडा ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
सरिता भाटिया
गुज़ारिश
63

Create a desktop shortcut to a website (वेबसाइट का शार्टकट डेस्‍कटॉप पर बनायें)

आज मैं आपको जो जानकारी देने जा रहा हॅू वह आपके बहुत काम आयेगी, आपने अक्‍सर किसी फाइल/फोल्‍डर के shortcut को desktop पर बनाया होगा, लेकिन मैं आज आपको आपकी मनपसन्‍द वेबसाइट का shortcut आपके desktop पर बनाने का तरी...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
abhimanyu
37

कसाब को फ़ांसी का बदला : सरबजीत का कत्ल

उस दिन सुबह सुबह जब मुझे सफ़र के दौरान पाबला जी का मैसेज मिला शायद सुबह आठ सवा आठ का कोई वक्त रहा होगा , मैं ट्रेन की खिडकी पर बैठा बैठा चौंक पडा था और मेरे हावभाव देख कर सहयात्री भी । मेरे मुंह से न...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
अजय कुमार झा
कुछ भी...कभी भी..
109

मैथिली बाल कविता-अतुलित आनन्द

बाल कविता-41अतुलित आनन्दठुमकि-ठुमकि हपकुनियाँ काटैतखन हँसैत खन चिचिया कऽ कानैतमाँटिक जलखइ, कोइलाक कलउअबोध नेनपनक नवका चउपों-पें-पों- पें जुत्ता बाजैतरुन-झुन डाँरक घण्टी गाबैतभोरक फूल सन आँ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
32

Diversity - Diversità - भिन्नता

Boulder, South Africa: Most people agree with the idea that all human beings are different, but did the nature make each living being different? Do all trees and flowers have different personalities? Does each sub-atomic particle doing endless circles inside an atom, has a different personality? What do you think? The images of today have African penguins from South Africa and they give a glimpse of their different personalities.बोल्डर, दक्षिण अफ्रीकाः ह...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SUNIL DEEPAK
Chayachitrakar - छायाचित्रकार
51

Download NCERT Book on Mobile

अगर आप के एंड्राइड मोबाइल है तो आप अपने मोबाइल पर NCERT की किताबें फ्री में डाउनलोड कर के पढ़ सकते हैं । जिसको आप फ्री में अपने एंड्राइड मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं । Download...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
JHAJJAR IT HUB
Jhajjar IT HUB
112

तुम ना होते तो

तुम ना होते तो कुछ भी ना होतातुम ना होते तो साँसे ना होती, तुम ना होते तो हवा भी ना होती , तुम्हारे बिन तो कुछ भी ना होता, सावन ना आता घटा भी ना छाती, ना पलके झुकाती ना किसी से लजाती , दिल की उमंगों क...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
KAVYASUDHA (काव्य सुधा)
KAVYA SUDHA (काव्य सुधा)
69

कबीर ...!!

कस्तूरी कुँडली बसै, मृग ढूँढे बन माहिँ।ऐसे घटि घटि राम हैं, दुनिया देखे नाहिँ॥प्रेम ना बाड़ी उपजे, प्रेम ना हाट बिकाय।राजा परजा जेहि रुचे, सीस देई लै जाय॥माला फेरत जुग भया, मिटा ना मन का फेर।कर ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
THE INNER JOURNEY ::: अंतर्यात्रा
89

शिक्षा ....!!

सत्य के दिशा में सबसे बड़ा अपराध तो तब हो जाता है , जब हम सत्य के संबंध में रूढ़ धारणाओं को बच्चो के ऊपर थोपने का आग्रह करते है ! यह अत्यंत घातक दुराग्रह है ! परमात्मा और आत्मा के संबंध में विश्व...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
THE INNER JOURNEY ::: अंतर्यात्रा
108

Words.............!!!

My Dear Souls ;Namaste !!!Everyday We come across some words in our daily life. some of them just resonate with you and push your attention in the right direction. Some even give you some true wisdom and insight and some are so pithy they stay with you your whole life. and some words take you back to your past and remind you of your mistakes and you make a new learning. So in short , why to simply listen and forget . we can change our life and its driving direction with these inspiring word...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
HRUDAYAM :: ह्रदयम
78

In the end ...............!

6 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
HRUDAYAM :: ह्रदयम
75

shortcut to kharar in punjab ,खरड से होकर पंजाब में किरतपुर साहिब

घर से करीब 325 किलोमीटर तक मै बडे मजे में बाइक चलाता रहा क्योंकि प्लेन रास्ता था । हम पिछले साल मणिमहेश यात्रा में जाते समय एक शार्टकट मारकर गये थे इस बार भी उसी रास्ते को जाना था । ये हाइवे पर ही ट...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
Manu
yatra (यात्रा ) मुसाफिर हूं यारो .............
63

आ गये नेता नंगे: चर्चा मंच 1235

"जय माता दी" अरुन की ओर से आप सबको सादर प्रणाम. चलते हैं आप सभी के चुने हुए प्यारे लिंक्स पर. "आ गये नेता नंगे" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) आजादी ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
142

क्रोध

पिछ्ली पोस्ट में हमने पढा 'व्यक्तित्व के शत्रु' चार कषाय है यथा- "क्रोध, मान, माया, लोभ". अब समझने का प्रयास करते है प्रथम शत्रु "क्रोध" को......'मोह' वश उत्पन्न, मन के आवेशमय परिणाम को 'क्रोध' कहते है. क्र...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
हंसराज 'सुज्ञ'
160
Voice of Silent Majority
49

शिव खोडी - SHIV KHODI

मैं शिवखोड़ी कि यात्रा पर कई बार जा चुका हूँ. जब भी वैष्णोदेवी जाता हूँ मैं वंहा जाने कि जरुर कोशिस करता हूँ. मैंने यंहा पर अपनी अलग यात्राओ के चित्र और अनुभव डालने कि कोशिस कि हैं. फोटो पुराने क...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
Praveen Gupta
घुमक्कड़ यात्री - GHUMAKKAD YATRI
423

गति-बोध

बाल कविता-40गति-बोधगलि-गलि बरफ झरना बनि जाइ छैगर्जन करैत झरना नदी बनि जाइ छैशहरकें भीजबैत, गामक पियास मेटाबैतमाँछ, मखान, कमलक मीता बनि जाइ छैदुनू तटकें सगरो एकात केनेदौड़ल जाए लक्ष्य दिश धियान ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
32


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन