अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

क्या कहूँ... ?

अचानक ही पता चला कि ऐसा भी कुछ हुआ है, के अब वो ही न रहा जिसकी आवाज ने मेरे दिल को हर वक्त छूआ  है... जगजीत सिंह जी को बहुत बहुत श्रद्धांजली !जन्म - 8 फरवरी 1941मृत्यु - 10 अक्टूबर 2011- महेश बारमाटे "मा...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Mahesh Barmate
Kuchh Dil Se...
96

जगजीत सिंह जी को श्रदांजलि

Kya kahe kaise kahe kya kho gya tere jane seKaise jiye kaise rahe tanha koi tere jane seChhithi na koi sandesh na jaane kaun sa desh jahan tum chale gaye Is dil ko laga kar tesh jane wo kaun sa desh jahan tum chale gaye.Jagjit singh ji ke bare mein jab suna nahi rahe tab khabar sunte hi mujhe  jhtka laga jaise kisi ne meri ruh ko mujhse juda kar dia ho…man hua me jor se ro padhu magar safar me thi to aisa karna sahaj na tha.phir kuch pal ankho ke samne se gujarne lage.Baat un dino ki hai ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
sakhi
sakhi with feelings..kahaniya/Articles
102

मुश्क-ए-जज़्बात

उन्होंने चेहरे पे जुल्फें यूं बिखरायींजैसे सावन की गर्त काली रात हुई होनूर-ए-चश्म झांकता सा गेसुओं के चिलमन सेजैसे सुर्ख बादलों से उसकी बात हुई होइक पल को ही जो उनके दीदार हो जाएँलगे ज़िन्दग...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
surender
"ख़्वाबों का तसव्वुफ़"
142

ब्लागिंग पर रवीन्द्र प्रभात की अनुपम पहल ....

इतिहास का मतलब दिक्कालीय परिवेश और घटनाओं के दस्तावेजीकरण का है और इसके लिए इंतज़ार किया जाना प्रमाणिकता को बनाए रखने के लिहाज से जरुरी नहीं है। इतिहास द्रष्टा द्वारा सीधे खुद लिखने के बजाय ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Manoj Pandey
मंगलायतन
102

बेहतर जिन्दगी और बेहतर हिन्दुस्तान के लिए काम करना होगा :डा. नामवर सिंह

राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. नामवर सिंह ने कहा कि आज तक प्रगतिशील लेखकों के अन्य संगठनों के साथ हम साझा मोर्चा नहीं बना पाये।  प्रगतिशील लेखक संघ का हीरक जयंती समारोह संपन्न लखनऊ । प्रगतिशील लेख...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Ravindra Prabhat
32
मेरी बात तेरी बात...
80

"जिद्द..!!"

एक दिन चला जाऊंगा मैं चुपके से...पीछे छोड़ कर सभी को इस दुनिया से,रूठना - मनाना सब रह जायेगा अधुरा... कि बस मेरा शरीर रहेगा जलाने के लिए | गरम शरद की बात ही क्या...एक दिन तो जलना है चिता पर मुझे,आग की...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
suman sourabh
..Tum Suman..!!
119

"हजारों ख्वाहिशें..!!"

बिखरते ख्वाबों को देखा सिसकते जज्बातों को देखा रुठती हुई खुशियाँ देखीं,बंद पलकों सेटूटते हुए अरमानों को देखा अपनों का बेगानापन देखापरायों का अपनापन देखारिश्तों की उलझन देखीं,रूकती स...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
suman sourabh
..Tum Suman..!!
79

पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण में पत्रकार समेत सात को कंजर्वेशन हीरो का सम्मान

दोस्तों पहले तो आपसे माफ़ी चाहूँगा कि इस बार मैं इस ब्लॉग पर बहुत दिनों बाद लिखने बैठा हूँ. इस बीच मुझे अपनी जिंदगी में ही कुछ शून्यता महसूस हुयी, कुछ ब्यस्तता भी ज्यादा रही. इसके अलावा मै अपने स...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण में पत्रकार समेत सात को कंजर्वेशन हीरो का सम्मान

दोस्तों पहले तो आपसे माफ़ी चाहूँगा कि इस बार मैं इस ब्लॉग पर बहुत दिनों बाद लिखने बैठा हूँ. इस बीच मुझे अपनी जिंदगी में ही कुछ शून्यता महसूस हुयी, कुछ ब्यस्तता भी ज्यादा रही. इसके अलावा मै अपने स...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
corbettnews
कॉर्बेट न्यूज़
84

लंकाधिपति रावण का दहन

       क्या सचमुच रावण जल गया?            हर साल दशहरा आता है। दशहरा विजयादशमी भी है, राम की रावण पर विजय का पर्व भी है। राम मर्यादापुरुषोत्तम हैं और रावण बुराइयों का प्रतीक ह...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Dr. Rahul Mishra
कही-अनकही-बतकही
54

कुछ पोस्ट झलकियां …झाजी कहिन

    सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक निर्णय भाग 5विशेष पुलिस अधिकारियों (एस0पी0ओ0) की नियुक्ति एवं सेवा शर्तें 28. कोया कमांडो की कार्यप्रणाली के सम्बन्ध में वादियों के द्वारा कई आरोप लगाए गए। इस ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
अजय कुमार झा
झा जी कहिन
64

बिहार के ज़ज्बात

वो जंगलों के नाम से था कभी मशहूर क्यूँ,?हाँ शेर तो थे कई पर इतना भी गुरुर क्यूँ,?सीखे थे सब पथिक यहीं से चलना दूर क्यूँ? जो ज्ञान कहीं नहीं मिली  यहीं मिला हुजुर क्यूँ? हुकुमत-ऐ-हिंदुस्तान ते...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Kshitij Ranjan
क्षितिज
101

ग्रेल यान लगायेगा चन्द्रमा पर गुरुत्वाकर्षण का पता

चंद्रमा पर रहने की इन्सान की खुवाहिस ने उसे नये नये रीसर्च करने को मजबूर कर दिया है। अभी हाल ही में की गयी एक रीसर्च के अनुसार चन्द्रमा पर गुरुत्वाकर्षण का अध्ययन की तैयारी शुरू हो गयी है .इसके ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Manoj
डायनामिक
43

आलोचक अपने चेलों को प्रमोट करने के लिए आलोचना का इस्तेमाल करते हैं..

 संस्मरण  इस बार लखनऊ यात्रा दिलचस्प रही. मेरे संपादकजी ने सुझाया कि मुद्राराक्षस से भी मुलाक़ात हो सकती है . ३५ साल का बाइस्कोप नज़रों में घूम गया . दिल्ली के श्रीराम सेंटर में १९७६ में मैं ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Ravindra Prabhat
28

चर्चा दो लाइना....इन झाजी इश्टाईल

पुराने थोबडे के साथ पुराने वाले ही चर्चाकार टीवी मीडिया पर लगेगी लगाम , कैबिनेट ने मुहर लगाई वो तो ठीक है लेकिन , कैबिनेट पर लगाम कब लगेगी भाईयहां बता रहे हैं ओकील साहब , कौन सा विवाह करना उचित नह...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
अजय कुमार झा
झा जी कहिन
63

शब्दों की चुप्पी का गर्जन ..

शब्दों ने अक्सर इन ‘शब्दों’ कोनि:शब्द किया है.जाने कितनी बारशब्दहीन इन ‘शब्दों’ नेकड़वे घूँट पिया है.शब्द भला कब शब्दों से पार पाते हैंअक्सर शब्द शब्दों से हार जाते हैंशब्द खुद शब्दों का करते...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
M Verma
जज़्बात
92

रावण नहीं मरा इस बार

रावण रावण नहीं मरा इस बारमेरे मन का रावण थाघर-घर में अब फैल गया, एक सर को काटा तो,दस ने जन्म ले लियादस का सौ,सौ का हजार,फैल गया जग में अब रावणरावण नहीं मरा इस बार।रामलीला में जल जाऐगा?रावण?मनलीला म...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
92

प्यार और डर

जब दिल प्यार से भर जायेगातब दिल डर से भर जायेगाजितना हम चाहते हैं तुम्हेउनता ही डरते हैं तुम्हारे लिएदुनिया बेईमान है, वक़्त बेरहमजब अपनों से घर भर जायेगाअंधविश्वासों से घर भर जायेगाअपनों...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Shankar M
Thoughtscroll
80

उत्तर प्रदेश में राजनितिक गतिविधियाँ शुरू !

मनोज जैसवाल : आप सभी को दशहरा पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ। उत्तर प्रदेश में  राजनीतिक गतिविधियाँ शुरू हो चुकी है। इसका सीधा उदाहरण है  दो मंत्रियों को हटाना।उत्तर प्रदेश की म...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manojjaiswalpbt
मजेदार दुनियाँ
83

इंदौर की झांकिया

पिछले लेख में हमने इंदौर की झाकियो के बारे में लिखा था जी हां वही झांकिया जो कि इंदौर कि कपडा मिलो द्वारा अनंत चतुदर्शी के दिन चल समारोह के रूप में निकाली जाती है|इंदौर में झाकियो कि शुरुवात 86 व...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
My Indore City [ इंदौर शहर ]
82

मुकेश डोलिया जी की रचना --

आओ बच्चों तुम्हें दिखाए झाकी घपलिस्तान की.इस मिट्टी पे सर पटको ये धरती है बेईमान की.बंदों में है दम, राडिया-विनायकयम्.बंदों में है दम, राडिया-विनायकम्.उत्तर में घोटाले करती मायावती महान हैदक्...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
108

Shri Saibaba of Shirdi

Shri Saibaba of Shirdi . His Samadhi (death) occurred on Vijayadasami day in 1918. He is my Bhagwaan .He takes care of his devotees even today . Pranaam vijay...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
109

लड़कियों सावधान: कहीं कोई आपको देख तो नहीं रहा... How to Detect Hidden Camera in Trial Room?

दोस्तों !आज मुझे किन्ही राजीव जी का एक ईमेल आया, जिसमे बहुत अच्छी जानकारी दी हुई थी, सोचा कि आप सभी लोग भी इसे जाने तो बहुत अच्छा होगा. यह ईमेल इंग्लिश में था जिसे मैं यहाँ अपने हिसाब से अनुवाद कर ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Mahesh Barmate
Kuchh Dil Se...
243

कश्मकश

मैँ तुम्हेँ याद नहीँ करतानहीँ चाहता तुम्हे याद करनापर क्या करूँ ?हर बार घूम जाता है तेरा चेहरामेरे ऑखोँ के सामने ।मैँ चाहता हूँ तुम्हेँ भुलनापर क्या करूँ ?फोन की हर एक घंटी मेँ तेरे होने का एह...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
sidharth sarthi
सारथी...
74

इरोम की लडाई ..एक दशक का अनशन

रविवार ,2 अक्तूबर , को जंतर मंतर दिल्ली पर शांति मार्च का आयोजन करते , इरोम की लडाई में साथ आए दोस्त , जिनमें एक मैं भी था , और हमारे मित्र मयंक सक्सेना जी भी , जिनके एक संदेश से मैं यहां पहुंच सकापिछ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
अजय कुमार झा
कुछ भी...कभी भी..
58

अब आयेगा स्मार्ट कार्ड

 मनोज जैसवाल ।। सरकार सभी वयस्क नागरिकों के लिए 2013 के अंत तक मल्टिपरपज स्मार्ट आइडेंटिटी कार्ड जारी करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। इसका इस्तेमाल राशन कार्ड, टोल कार्ड और इलेक्शन कार्...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manojjaiswalpbt
मजेदार दुनियाँ
88

मीठा पुर का पुल और पटना

आज पटना शहर थोरी उचीं लग रही थी क्योंकी उसमे एक नई पुल जुट गयी थी नए रास्तो का अनुभव बड़ा अजीब था क्योंकि कुछ आमिर था तो कुछ गरीब था जिनको हमने  अक्सर सर उठा के देखा था वे आज छोटी, बौनी  ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Kshitij Ranjan
क्षितिज
83

महाविनाश और विलुप्तीकरण (Mass Extinction)

दुनिया मे विनाश और जातियोँ का विलुप्तीकरण एक प्रक्रिया है और उसे ईश्वर का समर्थन हासिल है। धरती पे पहले बहुत बार ऐसा हुआ है और आगे भी होगा इसमेँ कोई शक नही। कब होगा ये नहीँ पता। मगर होगा ही। धरत...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vivek mishra
27

मेरी टिप्पणियां और लिंक -3

चला बिहारी ब्लॉगर बननेबाद मरने के मेरे मर-मर के जी रहे हैं सालों से मित्र हम तो-वो मौत क्या अलहदा कुछ और कष्ट देगी ||जब आग में जलेगा, नब्बे किलो का लोथा- पानी-पवन गगन यह धरती भी अंश लेगी || मोबाइल हुआ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
रविकर
श्री राम की सहोदरी : भगवती शांता
106


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन