अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

एम् ए व्यवहारिक मनोविज्ञान एवं जनसंचार विषय में प्रवेश को मंगलवार को सुबह 11:00 बजे से काउंसलिंग

 वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के पीयू कैट  2017 में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों का प्रवेश विश्वविद्यालय में मंगलवार से शुरू हो रहा है।  संकाय  भवन में  अनुप्रयुक्त सामाजिक विज्ञा...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
VBSPURVANCHAL
पूरब बानी....
0

२ प्रेम कवितायें

१- तुमने कहा पूजामै चुप रही ,तुमने कहा आशामै मुस्कुराई ,तुमने कहा नैनामैंने तुम्हे देखा ,तुमने कहा खुशीमै खिलखिलाई,तुमने कहा धरतीमैंने थाम लिया तुमको ,जब मैंने कहा आकाशतुम दूर होते गए ,इतनी दू...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
6

पिंकी का सपना - बाल गीत

टिमटिम ज्यों बिस्तर पर सोईत्यों ही वह सपनों में खोईशेर एक सपने में आयापर ना गर्जा ना गुर्रायाटिमटिम को देखा मुस्कायाहाथ मिलाकर दोस्त बनायाजंगल की फिर सैर करायासबसे टिमटिम को मिलवायायह देख...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
6

मित्र मंडली - 27

मित्रों ,"मित्र मंडली"का सताईसवां अंक का पोस्ट प्रस्तुत है। इस पोस्ट में मेरे ब्लॉग के फॉलोवर्स/अनुसरणकर्ताओं के हिंदी पोस्ट की लिंक के साथ उस पोस्ट के प्रति मेरी भावाभिव्यक्ति ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
राकेश श्रीवास्तव
2

दोहे "तीजो का त्यौहार" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

जब पड़ती चौमास में, रिमझिम सुखद फुहार।।तब आते बरसात में, तीज और त्यौहार।।--हरी-भरी धरती हुई, उफन रहे हैं ताल।उछल-कूद के साथ में, दादुर करें धमाल।।--बरखा का जलपान कर, धान रहे लहराय।चरागाह में च...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
4

कहकशां बनाते हैं

पोशीदा बातों को सुर्खियां बनाते हैंलोग कैसी-कैसी ये कहानियां बनाते हैंजिनमें मेरे ख़्वाबों का नूर जगमगाता हैवो मेरे आंसू इक कहकशां बनाते हैंफासला नहीं रक्खा जब बनाने वाले नेक्यों ये दूरिया...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
लोकेश नदीश
किल्लोल
4

पौराणिक आख्यानों की ओर

पौराणिक आख्यानों में कई ऐसे दृष्टांत मिल जाते हैं जो आज के सन्दर्भ में भी प्रासंगिक लगते हैं.कहा जाता है कि प्राचीन भारतीय समाज में वर्ण व्यवस्था प्रचलित थी और साधारणतः इसमें परिवर्तन संभव न...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
राजीव कुमार झा
3

हमला

उस रोजएक और आतंकी हमला हुआफिर कुछ जानेंअपनी जानों से हाथ धो बैठींखबर पाते ही सोशल मीडियाके भद्र (वीर) लोग अपने-अपने फेसबुक-टि्वटर के पेजों-पोस्टों परतरह-तरह की लानतें भेजने में जुट गएकिसी ने स...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Anshu Mali Rastogi
हथौड़ा
3
Mera Hindi Blog - Intertainment ways to earn at home sex education all type sms jokes love story
2
1

738.....शब्दों का खेल-खेलना हमारा धर्म !

साहित्य समाज का दर्पण है ये कथन क्या वर्तमान में सत्य है ,आज मैं अपने विचार आप पर थोपने नहीं आया हूँ बल्कि आप सबके विचार जानना चाहता हूँ। हम लिखते हैं किसके लिए ? ज़ाहिर है समाज के हर वर्ग को अपने ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
1

आग, पानी और प्यास....प्रेम नंदन

जब भी लगती है उन्हें प्यासवे लिखते हैंखुरदुरे कागज के चिकने चेहरे परकुछ बूँद पानीऔर धधकने लगती है आग !इसी आग की आँच सेबुझा लेते हैं वेअपनी हर तरह की प्यास !मदारियों केआधुनिक संस्करण हैं वेआग औ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
2

महिला क्रिकेट : पहिला विश्वकप जिंकण्याची संधी हुकली

लंडन । DNA Live24 - आयसीसी महिला क्रिकेट विश्वचषकाच्या अंतिम सामन्यामध्ये टीम इंडियाचा अवघ्‍या 9 धावांनी पराभव झाला आहे. इंग्लंडने प्रथम फलंदाजी भारतासमोर 229 धावांचे आव्हान ठेवले होते. भारतीय सं...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
4

शनैश्वर रिक्षा संघटनेच्या अध्यक्षपदी मधुकर आल्हाट

घोडेगाव । DNA Live24 (दिलीप शिंदे) - नेवासे तालुक्यातील घोडेगाव येथील शिंगणापूर ते घोडेगाव या मार्गावर चालणा-या रिक्षा चालक मालक संघटनेची शनिवारी बैठक झाली. त्यात अध्यक्षपदी मधुकर आल्हाट तर उपाध्...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
3

नियति

3 दिन पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
3

कुण्डली हाइकू

गाड़ी न छूटेवक्त पर पहुँचो पकड़ो गाड़ी  दबंग बनो किसीसे मत डरोरहो दबंग राज़ की बात किया जो परिहास दुःख का राज़ दिया जलाया घर भी जला दिया क्यों दर्द दिया जागृत नैन सचेत तन मेरा ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
asha lata saxena
3

Breath

3 दिन पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
3

आसमान से सांप, मछली और मेंढ़क बरसने का सच

आसमान से सांप, मछली और मेंढ़क बरसने का सच                                               आसमान से सांप, मेंढ़क, घोंघे,केकड़े, मछलियों के बरसने की बात आपने जरूर सुनी होगी। क्या यह सच ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
umesh kumar
सफल जीवन जीने के स्वर्णिम सूत्र
0

केवल परमेश्वर

   सी.एन.एन. ने ग्रेफाईट से बनाए गए एक नए पदार्थ ग्रफीन को "आश्चर्यकर्म पदार्थ"कहा क्योंकि यह हमारे जीवनों में क्रांतिकारी परिवर्तन ला सकता है। ग्रफीन केवल एक अणु जितना मोटा है, और इस तीन-आया...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Roz Ki Roti
रोज़ की रोटी - Daily Bread
2

तिसगाव बलात्कार : 'तो'नराधम सीसीटीव्हीत कैद

पाथर्डी । DNA Live24 - मांडवे (ता. पाथर्डी) येथील इयत्ता सातवीत शिकणाऱ्या मुलीवर अत्याचार करणारा नराधम आरोपी सीसीटीव्हीत कैद झाला आहे. पोलिसांनी त्याचे छायाचित्र जारी केले असून या आरोपीची माहिती प...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
1

दुनिया को नई नज़र से देखो, प्यारेलाल

"भगवाननहीहैचलोमानभीलियाजायेऔरयेभीमानलियाजायेकीसृष्टिकीरचनाअपनेआपहोगयीतोहरचीजकाजोड़ाकैसेबना? पशु-पक्षीबनेऔरउनकेभीजोड़ेबनेफिरनस्लआगेबढ़नेकेलियेभीइंतेज़ामहोगया? पेड़पौधेचन्द...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
Sanjay Grover संजय ग्रोवर
नास्तिक The Atheist
2

कुलीन लोक से मुठभेड़ करती कविताएँ - उमाशंकर सिंह परमार

युवा आलोचक उमाशंकर सिंह परमार की नई आलोचना-पुस्तक है - 'पाठक का रोजनामचा' जो डायरी विधा में लिखी गई है । उन्हीं के किताब से उसका अध्याय सप्तम है जो सुशील कुमार की कविताई पर केन्द्रित है । यह जितन...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
सुशील कुमार
शब्द सक्रिय हैं
3

मुद्रा लोन, रोजगार के आंकड़े और नोटों की गिनती।

                    अभी अभी केंद्र सरकार का बयान आया है की उसने पिछले तीन सालों में सात करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार दिया है। और ये रोजगार उसने मुद्रा बैंक से साढ़े तीन...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
rambilas
खबरी और गप्पी
4

नसों धमनियों के ब्लाॅकेज खोले Natural Remedy for Blockage Veins Artery in Hindi

NATURALLY CLEAR ARTERIES, VEINS BLOCKAGE शरीर की नसों - धमनियों की ब्लाॅकेज खोल दे यह खास चूर्णLDL खराब काॅलेस्ट्राॅल घटानेे और HDL अच्छा काॅलेस्ट्राॅल बढ़ाने, नसों - धमनियों में रक्त संचार सुचारू करने, हृदय घात से बचाने, ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
bharat singh
swasthyagyan
4

नसों धमनियों के ब्लाॅकेज खोले Natural Remedy for Blockage Veins Artery in Hindi

NATURALLY CLEAR ARTERIES, VEINS BLOCKAGE शरीर की नसों - धमनियों की ब्लाॅकेज खोल दे यह खास चूर्णLDL खराब काॅलेस्ट्राॅल घटानेे और HDL अच्छा काॅलेस्ट्राॅल बढ़ाने, नसों - धमनियों में रक्त संचार सुचारू करने, हृदय घात से बचाने, ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
bharat singh
1

ज़रा बता कितने दिनों से मिट्टी को नहीं छुआ

रे मिटटी के मानुस आखिर ये तुझे क्या हुआ ,ज़रा बता कितने दिनों से मिट्टी को नहीं छुआ ...आज शाम अचानक पैर की एक उंगली हल्की से चोटिल हो गयी , पास पड़े गमले में से मेरे डाक्टर साहब को निकाल कर मैंने वहां ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
अजय कुमार झा
कुछ भी...कभी भी..
1

गीत "सावन में" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

सपनों में ही पेंग बढ़ाते, झूला झूलें सावन में।मेघ-मल्हारों के गानें भी, हमने भूलें सावन में।।मँहगाई की मार पड़ी है, घी और तेल हुए महँगे,कैसे तलें पकौड़ी अब, पापड़ क्या भूनें सावन में।मे...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
1

No Holiday in women's life

संडे हो या मंडेनहीं है कोई हॉलिडेकाम किये जा घर के अंदरनहीं है कोई छुट्टी जी।कमर टूटती तो टूटने दोपैर लरजते है लरजने दोसर फटना तो आम बात हैक्योँ बनती हो डॉक्टर जी।आज नहीं कुछ नया बनायावही प...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
3


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन