अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

आज भी अंधभक्त इस पाखंडी को अपना भगवान मानते हैं - Baba Ram Rahim

 धर्मगुरु एक ऐसा पवित्र शब्द है जिसको सुनते ही लोग श्रध्दा से अपना सर झुका देते हैं. भगवान तक पहुँचने का माध्यम होते है धर्मगुरु. हमारे देश में धर्मगुरुओं को लोग भगवान तक का दर्जा दे देते हैं, ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Satish Kumar
Mera Hindi Blog - Intertainment ways to earn at home sex education all type sms jokes love story
4

ये है नारी शक्ति

 नारी की सशक्तता यहाँ देखो /इनमे देखो .मैंने बहुत पहले एक आलेख लिखा था-नारी शक्ति का स्वरुप:कमजोरी केवल भावुकता/सहनशीलताये सर्वमान्य तथ्य है कि महिला शक्ति का स्वरुप है और वह अपनों के लिए ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
भारतीय नारी
0

ये है 'बलात्कारी बाबा'राम रहीम का वो सपना जो जेल जाने के कारण अधुरा रह गया

ये है 'बलात्कारी बाबा'राम रहीम का वो सपना जो जेल जाने के कारण अधुरा रह गया..धर्म की दुकान चलाने वाले राम रहीम ने जेल जाने से पहले अपने हजारों ख्वाब पूरे किए लेकिन उसका एक ख्वाब अधूरा रह गया.राम रह...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Satish Kumar
Mera Hindi Blog - Intertainment ways to earn at home sex education all type sms jokes love story
2

हम मजबूरों की एक और मजबूरी - बाल मजदूरी

”बचपन आज देखो किस कदर है खो रहा खुद को ,उठे न बोझ खुद का भी उठाये रोड़ी ,सीमेंट को .”........................................................................”लोहा ,प्लास्टिक ,रद्दी आकर बेच लो हमको ,हमारे देश के सपने कबाड़ी कहते हैं खुद को .”................  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
SHALINI KAUSHIK
! कौशल !
0

राम रहीम से मिलने जेल पहुंची मां, 50 मिनट की मुलाकात में कई बार रोए दोनों

राम रहीम से मिलने जेल पहुंची मां, 50 मिनट की मुलाकात में कई बार रोए दोनों..साध्वी यौन शोषण केस में 20 साल की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम से मिलने गुरुवार को उसकी मां नसीब कौर जेल पहुंचीं। नसीब के सा...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Satish Kumar
Mera Hindi Blog - Intertainment ways to earn at home sex education all type sms jokes love story
2

लघुत्तम पानी उलीचनः ब्लू व्हेल और बेलो

सौजन्यः मेरी स्वयं की फेसबुक वॉल से। /FB//sakhajeeएक साल नर्मदाजी में कुई ने बेलो (व्हेलः ऑक्टोपस) आबे की फैला दई। हम सबरे मोड़ा-मोड़ी डरान लगे। नहाबे जाएं तो संगे। इकट्ठे। और ऐसे में कहूं नहात में चोई ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Barun Sakhajee
आम आदमी सरकारी चंगुल में......
4

“त्रिवेणियाँ-4”

                  (1)पछुआ पुरूवाई संग सौंधी सी महक हैकहीं  पहली बारिश  की बूँद गिरी होगी ।माँ के हाथ की सिकती रोटी  यूं ही महका करती थी ।।                   (2) ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Meena Bhardwaj
मंथन
3

बर्कले द्वार से राहुल का आगमन

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया का कहना है कि कांग्रेस की वापसी अगले साल होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव से होगी। उनका यह भी कहना है कि देश की जनता राहुल गांधी को अपने नेता के रूप में स्वी...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Pramod Joshi
जिज्ञासा
3

दोहे "चलना कभी न वक्र" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

बचा हुआ जो नेह है, उसको रहा सहेज।बुझने से पहले दिया, जलता कितना तेज।।क्या जायेगा साथ में, करलो जरा विचार।आने-जाने के लिए, खुले हुए हैं द्वार।।जब हो जाता नीड़ का, जीर्ण-शीर्ण आकार।हंस नहीं करता क...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
4
डायनामिक
0

792.... दूसरी औरत

आप सभी को यथायोग्यप्रणामाशीष"हैप्पी हिन्दी डे पखवारा"चौंकना मना हैहालत ऐसा हैमानों हैदूसरी औरतएक पोंछा लगा रही हैएक बर्तन मांज रही हैएक कपड़े पछींट रही हैएक बच्चे को बोरे में सुला कर सड़क पर र...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
0
2

792...अभी अभी पैदा हुआ है बहुत जरुरी है बच्चा दिखाना जरूरी है

सादर नमस्कारशुक्र की रात 11 बजेआदरणीय दीदी नहीं न दिखाई दी...........नहीं आता मुझे भरना, रंग शब्दों मेंनहीं लिख सकता मैं भूमिका अच्छीहरदम फंसा रहता हूँ मैं, तीन-तेरह मेंआता हूँ रिक्त समय में, बहला...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
0

सुख या फिर ख़ुशी..

चुनते हैं हमसुख या फिरख़ुशी..रह कर भीशिविर में ..प्रताड़नाओं केहम मन केमौसम को... बासन्ती बना सकते हैंकोई इन्सान..कोई वस्तु या फिर प्रक्रिया हो कोई भी....इतनी बलशाली नहींकि हमारे मन परकब्ज...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
0

हिम्मत का आधा टुकड़ा

सोचना समझना और चलना उन रास्तों पर पर फिर कभी न निकल पाना उन बंधनो से जो वक़्त के साथ बंधते और कस्ते जाते हैं |एक अजगर की पकड़ की तरह जहाँ दम घुटने के अलावा कुछ नहीं है जो दिन रात आपका सुख चैन ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
मधुलिका पटेल
मेरी स्याही के रंग
0

तुम्हारा उपहार

आज तुम्हारी रजिस्ट्री मिली है मुझे,कुछ प्यार के आभूषण हैं कुछ सपनों की पोशाकें,वही जो तुमने अपनी दहलीज़ के नीचे दबा रखी थीं. मैंने तुम्हारे उपहार पहन लिए है,देखो न कैसी लग रही हूँ?वैसी ही न!जैसी ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
3

अहमदनगरमध्ये सैन्यातील जवानांनी केले रक्‍तदान

अहमदनगर : DNA Live24-भारत सरकार रक्षा मंत्रालय, गुणता आश्‍वासन नियंत्रणालय (वाहन), अहमदनगर यांच्‍यावतीने आज दिनांक 15 सप्‍टेंबर, 2017 रोजी सी. क्‍यू. ए ये‍थील सहयाद्री हॉलमध्‍ये रक्‍तदान शिबीराचे आयोज...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
2

निवडणुकीच्या कामावरून ग्रामसेवकांवर कारवाई नको : एकनाथ ढाकणे

अहमदनगर : DNA Live24-निवडणुकीच्या कामात पंचायत समिती स्तरावरून देण्यात आलेल्या माहितीत चुका झालेल्या आहेत. या प्रकारात ग्रामसेवकांचा काही दोष नसून त्यांच्यावर कारवाई न करण्याचे निवेदन राज्य ग्...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
3

स्वच्छतेच्या सवयीतून आरोग्याचे प्रश्‍न सुटण्यास मदत : मुख्य सचिव श्यामलाल गोयल

अहमदनगर : DNA Live 24-हिवरेबाजार येथे ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियानाचा शुभारंभग्रामीण भागातील आरोग्याचे प्रश्‍न सुटण्यासाठी स्वच्छतेच्या सवयीला अतिशय महत्त्व आहे. घराची स्वच्छता ठेवतानाच संपूर्ण...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
DNA Live Media
DNA Live24
2

दिशासूचक

   घटना दूसरे विश्वयुध्द की है, जब छोटे कॉम्पास (दिशासूचकों) द्वारा 27 नाविकों की जान तट से 300 मील की दूरी होते हुए भी बच सकी। एक सेवानिवृत व्यापारी नाविक, वॉल्डेमर सेमेनौव, एक जलयान पर कनिष्ठ अ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Roz Ki Roti
रोज़ की रोटी - Daily Bread
2

सांच कहे तो मारन धावे - प्रसंगवश

     इसे कहते हैं बिल्ली के भाग से छींका टूटना। मुख्यधारा के मीडिया के लिए बाबा राम रहीम की स्टोरी कुछ इसी तरह रही। तब से अभी तक लगभग सारे खबरिया चैनल रोज बिना नागा चटखारे ले लेकर वही कहानी अ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
4

भविष्य की इन बातों को जान सकते हैं अपनी जीवन रेखा देखकर

हथेली में तीन रेखाएं मुख्य रूप से दिखाई देती हैं. ये जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा और हृदय रेखा है। इनमें से जो रेखा अंगूठे के ठीक नीचे शुक्र पर्वत को घेरे रहती है वही जीवन रेखा कहलाती है. छोटी जीवन र...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
shweta
offbeat news
6

वासना बोध की अनुपस्थिति है

🔴वासना बोध की अनुपस्थिति हैमैंने सुना है, एक गुफा एक पहाड़ की कंदरा में छिपी थी सदियों से, सदियों-सदियों से; अनंतकाल से। गुफाओं की आदत छिपा होना होता है। अंधेरे में ही रही थी। कुछ ऐसी आड़ में छिपी ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
3

जीते जी माता-पिता की सेवा कर न सके और मरने पर.श्राद्ध का आयोजन करते हैं

जीते जी माता-पिता की सेवा कर न सके और मरने पर.श्राद्ध का आयोजन करते हैं। ऐसे कई परिवार मैंने देखे हैं जिनके बच्चों ने कभी अपने माता-पिता या परिवार के किसी बुजुर्ग की सेवा की हो, लेकिन मरने के बाद ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
6

Engineers Day : जब उसने बचा ली सैकड़ों यात्रियों की जान

महान वैज्ञानिक,इंजीनियर और राष्ट्र निर्माण में अपना जीवन समर्पित करने वाले डॉ. विश्वेश्वरैया को भारत ही नहीं, विश्व की महान प्रतिभाओं में गिना जाता है. भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से स...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
umesh kumar
सफल जीवन जीने के स्वर्णिम सूत्र
0

स्त्री रक्त पिलाकर क्या रक्तबीज पालती है?

 PIC CREDIT: PINTERESTस्त्री को मानव न समझकरअबला समझने वाले ए सबल पुरुषार्थियों,रे दम्भी समाज,मत पिला इन कानों को तेजाब का अमृत,अगर ये आंखें बेकाबू हो गयीतो मेरे सीने का दर्दतेरी ज़िंदगी पर ज्वालामुखी की ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Abhilasha
@Abhi
6

लघुत्तम व्यंग्य: अभियंता डे

आज इंजीनियर्स डे है। वही इंजीनियर्स जो सड़कों, ब्रिजों, चौक, भवनों के साथ खुद भी बन गए।@स...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Barun Sakhajee
आम आदमी सरकारी चंगुल में......
7

दोहे "हिन्दी से है प्यार" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

हिन्दी भाषा का हुआ, दूषित विमल-वितान।स्वर-व्यंजन की है नहीं, हमको कुछ पहचान।।बात-चीत परिवेश में, अंग्रेजी उपलब्ध।क्यों हमने अपना लिए, विदेशियों के शब्द।।सिसक रही है वर्तनी, खिसक रहा आधार।अपन...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
4

फोटोग्राफी : पक्षी 24 (Photography : Bird 24 )

Photography: (dated 14 06 2017 06: 00 AM )Place : Kapurthala, Punjab, IndiaCrested or Changeable hawk-eagle The crested hawk-eagle or changeable hawk-eagle  is a bird of prey species of the family Accipitridae. Changeable hawk-eagles breed in the Indian subcontinent, mainly in India and Sri Lanka, and from the southeast rim of the Himalaya across Southeast Asia to Indonesia and the Philippines. This is a bird occurring si...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
राकेश श्रीवास्तव
0

छाए हैं दृग पर

छाए हैं अब दृग पर, वो अतुल मिलन के रम्य क्षण!वो मिल रहा पयोधर,आकुल हो पयोनिधि से क्षितिज पर,रमणीक क्षणप्रभा आ उभरी है इक लकीर बन।छाए हैं अब दृग पर, वो अतुल मिलन के रम्य क्षण!वो झुक रहा वारिधर,यु...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
पुरूषोत्तम कुमार सिन्हा
2


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन