अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

वैश्य समाचार

1 सप्ताह पूर्व
Praveen Gupta
हमारा वैश्य समाज - HAMARA VAISHYA SAMAJ
0
1

791.....हजार के ऊपर दो सौ पचास हो गये बहुत हो गया

सादर अभिवादनविश्व हिन्दी दिवसबीत गया....एण्ड वी कैन स्पीक इन इंग्लिशकाँग्रेचुलेशन्स...दरअसल मेरे की बोर्ड में इंग्लिशको इंग्लिश मे टाईप करने की सुविधा नहीं है‘उड़ती बात’उड़ते-उड़ते हम...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
0

मिट्टी से मशविरा न कर...अभिषेक शुक्ला

मिट्टी से मशविरा न कर, पानी का भी कहा न मानऐ आतिश-ए-दुरुं मेरी, पाबंदी-ए-हवा न मानहर एक लुग़त से मावरा मैं  हूँ अजब मुहावरामेरी ज़बान में पढ़ मुझे, दुनिया का तर्जुमा न मानहोने में या न होने में मेरा ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
1

अंग्रेज़ी की धूप में शीतल छाया-सी है मेरी माँ हिंदी।

कई चीजें हैं जो इस परदेश में देश के लिए तड़पाती है मन को। खानपान, नाते-रिश्ते, तीज-त्योहार जाने कितनी चीजें और साथ में अपनी बोली। अपनी हिंदी। बड़ा पराया कर दिया है यहाँ उसके बच्चों ने उसे। सबके ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
pankhuri kumari
शब्द - एक कविता ,एक कहानी या जिंदगानी ?
6

Osho: कौन से शक्ति थी रामानुजन के पास ? OSHO QUOTES | OSHO MEDITATION |OSHO HI...

https://www.youtube.com/watch?v=piG1X8fmf5c"परलोक में सैटेलाइट"व्यंग्य उपन्यास नीचे दी गई लिंक पर उपलब्ध है अमेजन http://amzn.to/2izVMhv श्री बुक स्टोर, बिलासपुर --------------------------------------------------------------------------------------------------------- इस ब्लॉग के किसी भी ह...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Barun Sakhajee
आम आदमी सरकारी चंगुल में......
4

!! हमारा तो वजूद ही हिंदी है !!

मेरी पहचान, मेरी जबानस्वयं को जताने का जरियाखुद को समझाने कादूसरों को समझने का नजरिया नदी की रफ़्तार की तरहमेरी जीवन की गति हिंदी है।सोचना,गाना, लड़ना, झड़गनानिंदा, स्तुति सब उसी में करनाबंद ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
pankhuri kumari
शब्द - एक कविता ,एक कहानी या जिंदगानी ?
5

हिंदी ने मुझे खूब दिया - भावना पाठक

हिंदी दिवस की अनेकों स्मृतियाँ मेरे मन-मस्तिष्क में आज भी रची  बसी हैं तब भला १४ सितम्बर कैसे भूलता। हिंदी दिवस पर स्कूल और कॉलेज में वाद-विवाद प्रतियोगिता, आशु भाषण,कविता प्रतियोगिता सब मे...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
4

कार्यकारी शब्द

   कॉलेज में मेरी कक्षा के उस छात्र का वह ईमेल सहायता की शीघ्र कार्यवाही के निवेदन से भरा था। सेमेस्टर का अन्त आ रहा था, और उसे यह एहसास हुआ था कि खेलों में भागीदारी के लिए उसे कुछ बेहतर अंक चा...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Roz Ki Roti
रोज़ की रोटी - Daily Bread
3

भारत-जापान के संबंधों पर चीन की तिलमिलाना स्वाभाविक है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला

हरेश कुमारभारत-जापान के संबंधों पर चीन की तिलमिलाना स्वाभाविक है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की भारत की यात्रा और गर्मजोशी से स्वागत किए जाने के बाद चीन क...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
3

बुलेट ट्रैन हमारी अँखियों से गोली मारे

जापान के प्रधानमंत्री   बुलेट ट्रैन के लिए पहला पत्थर रखने भारत आये हुए है । अब भारत में भी रेल गोली की रफ़्तार से  दौड़ेगी। बुलेट ट्रैन का सपना अब पूरा होने वाला है। भारत में अब विकास के ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
amol saroj
अमोल सरोज स्टेटस वाला
2

अगर नरेंद्र मोदी की बायोपिक बने तो इन एक्टर्स को मौका जरूर मिलना चाहिए

नरेंद्र मोदी भारत के मौजूदा प्रधान मंत्री, अदम्य, शक्तिशाली और आत्मविश्वास से भरा व्यक्ति जिसने भारत की पहचान को विश्व पटल पर एक नया आयाम दिया। अमेरिका हो जापान, रूस, इजराइल आदि देशों के साथ भ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
shweta
offbeat news
5

क्या आप जानते हैं, हिंदी वर्णमाला में कितने अक्षर होते हैं ?

           हिंदी वर्णमाला में 52 अक्षर होते हैं , जो निम्नलिखित हैं :-स्वर :-अ आ इ ई उ ऊ ए ऐ ओ औ अं अः ऋ ॠ ऌ ॡव्यंजन :-क ख ग घ ङच छ ज झ ञट ठ ड ढ ण (ड़, ढ़)त थ द ध नप फ ब भ मय र ल वश ष स हक्ष त्र ज्ञयह वर्णमाला दे...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
4

मम्मी अपनी बोली बोलो - बालगीत 92

मम्मी अपनी बोली बोलोअंग्रेजी कुछ बुरी नहीं हैपर इसमें वो बात नहीं हैबोलो  जहां जरूरी बेशकघर पर नानी जैसी बोलोमम्मी अपनी बोली बोलोअपनी बोली सबको भाए बोलो जो सब समझ में आएहिंदी फैल रही तेज...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhavna pathak
bhonpooo.blogspot.com
2

इन्डोनेशिया में आयोजित होने जा रहा है अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी उत्सव

आगामी विश्व हिन्दी दिवस यानी 10 जनवरी 2018 को इंडोनेशिया की सांस्कृतिक राजधानी बाली में अंतरराष्ट्रीय हिन्दी उत्सवका आगाज होने जा रहा है, जिसका समापन समारोह 13-14 जनवरी 2018 को इंडोनेशिया की राजधानी ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Ravindra Prabhat
परिकल्पना
0

ऐसा कहां होता है भाई...कि मारौ घोंटूं फूटी आंख ?

ब्रज में ये कहावत बहुत प्रचलित है-  ''मारौ घोंटूं फूटी आंख'', यानि कुछ किया और कुछ और ही हो गया, यूं इसके शब्‍द विन्‍यास से आप लोग समझ पा रहे होंगे कि जब घुटने में मारने से आंख कैसे फूट गई, तो आप सही ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Alaknanda singh
अब छोड़ो भी
2

भारत के लोग हर नई चीज का विरोध करते हैं और शुरू होते ही उसे गले लगाने में सबसे आगे होते हैं

हरेश कुमारभारत के लोगों की खास आदतों में शुमार हो चुका है विरोध। हम हर नई चीज के आने का खूब विरोध करते हैं और जैसे ही वो लॉन्च होता है उसे गले लगाने में भी सबसे आगे होते हैं। आप शुरू से लेकर देख ल...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
4

अवध की सरजमीं पर इंडोनेशियन संस्कृतिकर्मियों का भव्य स्वागत परिकल्पना द्वारा....

नज़ाकत, नफासत और तमद्दुन का शहर लखनऊ यानी तहजीव-ए-अवध के मुताबिक यह सर्वविदित है कि "मेहमां जो हमारा होता है वो जान से प्यारा होता है....."कल यानी 13 सितंबर को मेरे पास इंडोनेशियन एम्बेसी से दूरभाष प...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Ravindra Prabhat
परिकल्पना
0

हिन्दी की चिंता!

इसेविडंबना नहीं दोगलापन ही कहा जाएगा कि हम हिंदी की चिंता के लिए 'हिंदी दिवस'को चुनते हैं। पूरे साल इस बात से हमें कोई मतलब नहीं रहता कि हिंदी में क्या खास हो रहा है? हिंदी का विस्तार कितना और कह...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Anshu Mali Rastogi
हथौड़ा
3

हिंदी ब्लॉगिंग हिंदी को मान दिलवाने में सक्षम

            हिंदी ब्लॉग्गिंग आज लोकप्रियता के नए नए पायदान चढ़ने में व्यस्त है .विभिन्न समाचार पत्र-पत्रिकाओं की तानाशाही आज टूट रही है क्योंकि उनके द्वारा अपने कुछ चयनित रचनाकारों को ह...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
SHALINI KAUSHIK
! कौशल !
1

ASHA KHEMKA - BUSINESS WOMEN OF THE YEAR - आशा खेमका

नहीं आती थी अंग्रेजी, आज बिहार की इस बेटी को पूरी दुनिया कर रही सलामबिहार के सीतामढ़ी की रहनेवाली आशा खेमका को ब्रिटेन के प्रतिष्ठित बिजनेस वूमेन पुरस्कार से नवाजा गया है। आशा की शादी 15 साल की ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Praveen Gupta
हमारा वैश्य समाज - HAMARA VAISHYA SAMAJ
4

AJAY AGRAWAL - MAX MOBILE - अजय अग्रवाल मैक्स

9वीं फैल होने के बाद छोड़ी पढ़ाई, शुरू किया कारोबार, 10 वर्ष के भीतर ही बना ली 1500 करोड़ की कंपनीब्रांड का नाम तभी बड़ा होता है जब उसके प्रचार के लिए बड़े से बड़े लोकप्रिय चेहरों का इस्तेमाल किया जाए। जब म...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Praveen Gupta
हमारा वैश्य समाज - HAMARA VAISHYA SAMAJ
5

कविता "मेरी कार का आठवाँ जन्मदिवस" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

कदम-कदम पर साथ निभाती।कार हमारी हमको भाती।।हिन्दीदिन पर इसको लाये।हम सब मन में थे हर्षाये।।आज आठवाँ जन्मदिवस है।लेकिन अब भी जस की तस है।। यह सफर की सखी-सहेली।अब भी है ये नयी-नवेली।।साफ-सफा...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
1

जीवन तो एक कोरे कागज की तरह है, जो चाहे लिख सकते हो-ओशो

🍃 *जीवन तो एक कोरे कागज की तरह है! जो चाहे लिख सकते हो!!*🍃जीवन व्यर्थ है , ऐसा मत कहो l ऐसा कहो कि मेरे जीने के ढंग में क्या कहीं कोई भूल थी ? क्या कहीं कोई भूल है कि मेरा जीवन व्यर्थ हुआ जा रहा है ?जीवन ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
2

इसलिए हर पल को खुश होकर जियो, व्यस्त रहो, पर साथ में मस्त रहो।

🐿एक गिलहरी रोज अपने काम पर समय से आती थी और अपना काम पूरी मेहनत और ईमानदारी से करती थी❗गिलहरी जरूरत से ज्यादा काम कर के भी खूब खुश थी❗क्योंकि उसके मालिक, जंगल के राजा शेर ने उसे दस बोरी अखरोट दे...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
2
2

790.......हिंदी हमारी भावनाओं की आत्मा है...

सादरअभिवादन। 14 'सितम्बर'अर्थात ''हिंदी-दिवस''  सभीहिंदी-प्रेमियोंकोहिंदी-दिवसकी शुभकामनाऐं।    भारतीयसंविधानद्वारास्वीकृत 22 भाषाओंमेंहिंदीकाविशिष्टस्थानहैफिरभीइसेसंवि...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
0

मौसम बदले, न बदले....अशोक वाजपेई

मौसम बदले, न बदलेहमें उम्मीद कीकम से कमएक खिड़की तो खुली रखनी चाहिए।शायद कोई गृहिणीवसंती रेशम में लिपटीउस वृक्ष के नीचेकिसी अज्ञात देवता के लिएछोड़ गई होफूल-अक्षत और मधुरिमा।हो सकता हैकिसी...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
0

हिंदी से है हिन्दोस्तान!

GOOGLE IMAGEहम सब के माथे की शानहिंदी से है अपना हिन्दोस्तान,कश्मीर से कन्याकुमारी औरपोरबन्दर से सिलचर तकहिंदी ने कभी कोईसरहद या दीवार नहीं बनाई,सबने वही जुबां बोलीजो समझ में आई;फिर भी ये उपेक्षा की...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Abhilasha
@Abhi
4

कुछ खट्टी यादें, जो भुलाए से नहीं भूलतीं कभी

हरेश कुमार#कुछखट्टीयादेंगुड़गांव(गुरुग्राम) के रेयान इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में 7साल के बच्चे प्रद्युम्न की दर्दनाक हत्या से एक पुराना हादसा याद आ गया।1987की बात है मैं 7वीं में पढ़ता था।मेरे पि...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
Haresh
Information2media
4


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन